चाणक्य के जीवन से जुडी कुछ बातें , और जानिये चाणक्य की मौत का कारण - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Wednesday, 25 April 2018

चाणक्य के जीवन से जुडी कुछ बातें , और जानिये चाणक्य की मौत का कारण

जानिये चाणक्य के जीवन से जुडी कुछ बातें , और चाणक्य की मौत का कारण

aacharya chanakya se judi kuch bate


जैसा की हम जानते है की आचार्य चाणक्य जितना महान अभी इस कलयुग में और कोई भी नहीं बन सकता.
आचार्य चाणक्य ने अपने जीवन में जो भी अनुभव प्राप्त किये और जो भी नियमो का निर्माण किया वो सभी अमर हो गए. पर आपको आचार्य चाणक्य के बारे में कुछ जानकारी पता नहीं होगी जो की आज आपको हम बताने वाले है.




जानिए आचार्य चाणक्य के बारे में कुछ अनसुनी बातें.



1. चाणक्य के जन्म के समय उनके मुह में एक दांत था. और जन्म के कुछ समय बाद उनके घर पर एक जैन मुनि पहुचे और उन्होंने वो दन्त को देख कर कहा था की ये लड़का राजा बनेगा.

2. ये बात सुनकर उनके माता-पिता घबरा गए और उन्होंने कहा की वे चाहते है की उनका पुत्र कोई जैन मुनि बने या आचार्य बने तो ये बात सुनकर मुनि ने कहा की ये दांत निकल दीजिये तो आपका पुत्र राजा का निर्माता बनेगा.

3. कौटिल्य वो पहले विचारक थे जिन्होंने कहा था की राज्य का अपना खुद का विधान और संविधान बनाये. और ये 2300 वर्ष पहले संविधान का सबसे पहला विचार था.

4. चाणक्य ने चन्द्रगुप्त को उनके मामा से धन देकर ख़रीदा था क्योकि उसका मामा उससे काम करवाता था और बिना धन दिए उनको छोड़ने को भी तैयार नहीं था.

5. प्राचीन जैन ग्रन्थ परिशिष्ट पर्व की माने तो आचार्य चाणक्य का जन्म गोल्य नाम के जानपद में हुआ था और उनके पिता का नाम चणक और माता का नाम चनेश्वरी था.

6. चाणक्य को इतिहास में दो और नामो से भी जाना जाता है वो है कौटिल्य और विष्णु.

7. अगर विद्वानों की माने तो उनका मूल नाम विष्णुगुप्त था.


8. बिन्दुसार की माता की हत्या का जूठा आरोप लगने पर उन्होंने आहत में आ जा कर अपने पद का त्याग कर दिया था जो की बाद में गलत साबित हुआ था.









Loading...



9.  भ्रष्टाचार को रोकने के लिए चाणक्य ने ऑडिटिंग सिस्टम लागु करवाया था जिसमें कर्मचारीयो और अधिकारियो को एक ही विघाग में लम्बे समय तक ना रखने की बात की थी.


10. चाणक्य चन्द्रगुप्त को भोजन में बहुत कम मात्र में जहर भी देते थे जिससे शत्रु के द्वारा किये जाने वाले किसी भी जहरीले आघात का सामना एकदम आसानी से कर सके.

11. कौटिल्य का आर्थशास्त्र राज्य को चलने के लिए संविधान का ब्लू प्रिंट था पर ये बात जान कर आपको हैरानी होगी की न तो उनके पास कोई राज्य था और ना ही उनके पास कोई राजा था. और इसके लिए उनको एक वक्ति की तलाश थी जो की बाद में चन्द्रगुप्त के रूप में पूरी हुई.


12. आचार्य चाणक्य ने उनके समय में पाटलिपुत्र से दूर तक्षशिला में अपनी पढाई पूरी की थी जो की आज के समय में अफ़ग़ानिस्तान में है.


13. आचार्य चाणक्य ने अपनी कुटिल नीतियों से ही सिकंदर को भारत में रुकने नहीं दिया था और वापिस लौट ने पर मजबूर कर दिया था.


14. क्या आपको पता है की चाणक्य के मार्गदर्शन में ही मौर्य साम्राज्य उस समय का सबसे बड़ा साम्राज्य बन सका.

15. आपको ये बात जानकर हैरानी होगी की वर्तमान समय में सभी देशो में विदेशीयो ने भी चाणक्य निति को ही मान कर चलते थे.

और अन्तं में एक महत्वपूर्ण बात की चाणक्य की मृत्यु कैसे हुई ?

16. आचार्य चाणक्य की मौत के मुख्य दो कारण माने जाते है पहला तो चाणक्य ने अन्न-जल का त्याग कर के अपनी इच्छा से शरीर छोड़ा था. और दूसरी महत्वपूर्ण बात की षड्यंत्र के शिकार होकर उनकी मौत हो गयी थी.


No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा