क्या आप जानते है वर्ल्ड की दूसरी सबसे लम्बी दीवार भारत में है ? - SupportMeYaar.Com | Top News | Ajab Gajab | LifeStyle | And Much More. . .

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

Friday, 24 March 2017

क्या आप जानते है वर्ल्ड की दूसरी सबसे लम्बी दीवार भारत में है ?


चीन की ( The Grteate Wall oF China ) के बारे में आपने सुना ही होगा जो की दुनिया के सात अजूबो में शामिल है पर क्या आपको पता है की दुनिया की दूसरी सबसे लम्बी दिवार के बारे में आपने कभी सुना है जो की हमारे देश भारत में है.


जी हा, ये दिवार भारत के राजस्थान में आई है. जिसके बारे में आज हम कुछ रोचक और अनकही कहानी बताते है.


दर्हसल हम राजस्थान के राजसमंद जिल्ले में स्थित कुम्भलगढ़ फोर्ट की दिवार के बारे में बात कर रहे है जो की 36 किलोमीटर लम्बी और 15 फिट चौड़ी है. ये फोर्ट का निर्माण महाराजा कुम्भा ने करवाया था.

◽इसे भी पढ़े : सपनो की दिनिया के बारे में कुछ रोचक जानकारी !

⚫ कुम्भलगढ़ फोर्ट का निर्माण.

कुम्भलगढ़ का निर्माण सम्राट अशोक के पुत्र सम्प्रति के बनाये गए दुर्ग के अवशेषों पर करवाया गया था, हम आपको बता दे की इस को पूरा होने में करीब 15 साल लग गए थे. और इसकी खुशी में महाराजा कुम्भा ने सिक्के बनवाये थे जिस पर दुर्ग और उसका नाम अंकित था.


⚫ यहाँ 360 से ज्यादा मंदिर हैं.

क्या आपको ये बात पता है की यहाँ पर कुल मिलकर 360 मंदिर बने हुए है, दुर्ग को कई घाटियों और पहाडियों को मिलकर बनाया गया है इससे इसको प्राकृतिक सुरक्षा मिली हुई है. यहाँ पर जो 360 मंदिर है उनमे करीब 300 से भी ज्यादा जैन मंदिरों है और 60 जितने हिन्दू मंदिर है.

⚫ गौरवशाली इतिहास .

यहाँ पर आपको हम इस किल्ले का इतिहास बताएँगे जैसे की महाराणा कुम्भा से लेकर महराना राज सिंह के समय काल तक मेवाड़ पर बहुत सारे आक्रमण हुए और आक्रमण के दौरान सारा राज परिवार इसी महल में रहा, यहाँ पर ही पृथ्वीराज चौहान और महराना सांगा का बचपन बिता था. हल्दी घटी के युद्ध के बाद महाराणा प्रताप भी कुछ समय तक यही दुर्ग में रहे और महाराणा उदय सिंह को भी पन्ना ने इसी दुर्ग में छिपाकर रखा था और उसका लालनपालन किया था.

◽इसे भी पढ़े :  संस्कृत भाषा से जुडी कुछ महत्वपूर्ण बाते, जो आपको पता नहीं होगी!

⚫ कुम्भलगढ़ की आंख.

यहाँ पर नजिक मेही एक और गढ़ आया हुआ है जिसको कतार्गढ़ के नाम से जाना जाता है, जिसकी लोग कुम्भलगढ़ की आँख मानते है, ये गढ़ में सात बड़े बड़े दरवाजे है यहाँ शीर्ष भाग में बदल महल को बनाया गया है और सबसे उपर कुम्भा महल को बनाया है. और आपको हम बतादे की महाराणा प्रताप का जन्म स्थल मेवाड़ कुम्भलगढ़ की संकर्कालिन राजधानी रहा है.



⚫ संत ने बताया उपाय .

संत ने बलि देने से पहले राजा को बताया की जहा तक में इस पहाड़ी पर चालू मुझे चने दीजिये और जहा पर भी में रूक जाऊ उसी जगह मुझे मार दिया जाए. जैसे की संत ने कहा था राजा ने ठीक वैसे ही किया, संत 36 किलोमीटर तक चले और रुक गए जैसे ही संत रुके उसका सर धड से अलग करदिया. जहा पर उस संत का सर गिरा था उस जगह वहा का मुख्य दरवाजा बनाया गया जिसको हम हनुमान पोल के नाम से जानते है और जहा पर उसका धड़ दिर उस जगह पर दूसरा मुख्य दरवाजा बनवा दिया.


⚫ निर्माण कार्य में आईं बहुत अड़चने.

हम आपको इसके निर्माण से जुडी कहानी भी बतादेते है क्योकि वो भी बड़ी दिलचस्प है. हुआ यु की 1443 में महाराणा कुम्भा ने इसका निर्माण शुरू करवाया था पर ये कार्य को भी किसीकी नजर लग गयी थी. राजा को इस बात की चिंता होने लगी और एक संत पुरुष को बुलाया. इसके जवाब में संत में कहा की आपका ये काम तभी ही आगे बढ़ पायेगा जब कोई मानव अपनी मर्जी से बलि के लिए तैयार हो जाये. राजा ने ये बात सुनी तो उसको और भी चिंता होने लगे और सोचने लगे की एसा कोन होगा जो इसके लिए तैयार होगा. तभी एक चमत्कार हुआ और संत बोले की वह खुद ही बलिदान के लिए तैयार है और इसके लिए राजा से आज्ञा मांगली.

◽इसे भी पढ़े : इन लोगों की बातों पर ध्यान नहीं देना चाहिए, भगवान शिव ने पार्वती को बताया था 


⚫ अजेय रहा दुर्ग परन्तु .

ये दुर्ग जब बना तब से इस पर आक्रमण शुरू हो गए पर  सिर्फ एक एक बात को छोड़ कर, एक बार इस दुर्ग में पिने का पानी ख़त्म हो गया और दुर्ग को बहार से चार राजाओ ने घेर लिया इसमें मुग़ल अकबर थे, गुजरात के सुलतान थे, आमेर के राजा मान सिंह और मेवाड़ के राजा उदय सिंह. महाराणा कुम्भा को कोई नहीं हरा सकता था पर एक दुखद बात हुई की अपने ही पुत्र उदय कर्ण के द्वारा राज्य लिप्सा में मारे गए.


इसे भी पढ़े :

⚬ जानिये चाणक्य के जीवन से जुडी कुछ बातें , और चाणक्य की मौत का कारण
⚬ 53 ऐसी बातें जिसे जान कर आप दांतों तले उंगलिया दबा देंगे, और बोलेंगे वाह यार क्या जानकारी दी है.
⚬ ये कुछ बातें पढ़कर आप किसी को भी इम्प्रेस कर सकते हो 
⚬ ऑस्ट्रेलिया के कुछ अजीबो-गरीब और हैरान करदेने वाले कानून क्या आपको पता है? 

नोट: ये आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें जरूर बताये क्योंकि आपके एक कमेंट से हमें प्रेरणा मिलती है और भी अच्छा लिखने की.... तो प्लीज कमेंट जरुर करे और अपना सुजाव दे. 

अगर आपके पास भी कोई हिंदी में लिखा हुआ प्रेरणादायक, कहानी, कविता, सुझाव, या फिर कोई भी ऐसा लेख जिसको पढ़कर पढने वाले को किसी भी प्रकार का मार्गदर्शन या फायदा होता है तो आप उसे हमारे साथ शेयर करना चाहते है तो अपनी फोटो और नाम के साथ हमें ईमेल करे. हमारी Email ID है  hindimekahe@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ हमारी वेबसाइट पर पब्लिश करेंगे.



No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा