‘इसरो’ से जुड़े कुछ अनसुने रोचक तथ्य ! जो आप नहीं जानते। - SupportMeYaar.Com | Top News | Ajab Gajab | LifeStyle | And Much More. . .

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

Thursday, 23 March 2017

‘इसरो’ से जुड़े कुछ अनसुने रोचक तथ्य ! जो आप नहीं जानते।



इसरो के वर्तमान निर्देशक ए एस किरण कुमार है. (इसरो) भारत का राष्ट्रीय अंतरिक्ष संस्थान है और इसका मुख्यालय बेंगालुरू कर्नाटक में है. यहाँ पर सत्रह हजार कर्मचारी एवं वैज्ञानिक कार्य करते है, और इसका मुख्य लक्ष है की भारत के लिए अंतरिक्ष सम्बंधित तकनीक उपलब्ध करवाना.


दोस्तों इसरो ने अब तक जो किया और जो कर रही है वो भारत के लिए गर्व की बात है अब तक इसरो ने जो कर दिखाया है दुरे देश सोचते रहे की भारत जैसे डेस्क के लिए ऐसा करना संभव नहीं है.

इसे भी पढ़े : क्यों इंडियन लड़के नहीं जानते, की प्यार का इजहार कैसे करे

अब इसरो दुनिया के बहुत से देशो को अपनी अंतरिक्ष क्षमता से व्यापारिक और अन्य कार्यो पर सहयोग कर रहा है.

तो आइये जानते है इसरो से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

1. ISRO का पूरा नाम Indian Space Research Organization है, इसका हेडक्वाटर बेंगलूर में है.

2. यह अंतरिक्ष विभाग द्वारा कंट्रोल की जाती है जो की भारत के प्रधानमंत्री को सीधे रिपोर्ट भेजता है. भारत भर ने इसरो के कुल मिलकर 13 सेंटर है.

3. अमेरिका, जापान, रूस, चीन और फ्रंच सहित भारत दुनिया के उन देशो में शामिल है जो अपनी भूमि पर सैटेलाइट बनाने और उसे लोंच करने की क्षमता रखता है.


4. इसरो की स्थापना डॉ. विक्रम साराभाई ने कि थी सन 1969 में और वो भी स्वतंत्रता दिवस के दिन औए इसे भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम का जनक माना जाता है.

5. इसरो ने हमारे देश के लिए अभी तक 86 satellites लोंच कर चूका है और 79 sateliites दुसरे देशो के लिए भी लोंस कर चूका है.

6. पाकिस्तान की भी एक स्पेस एजेंसी है जिसका नाम है SUPARCO. ये 1961 में बनी थी जब की ISRO 1969 में. इसरो आज तक अपने देश के लिए 86 satellites लोंच कर चूका है और SUPARCO सिर्फ 2 ही और वो भी विदेशी देशो की मदद से.

∘ इसे भी पढ़े : अब आप बिना इंटरनेट भेज सकते है  वॉट्सएप पर मैसेज 

7. भारत मतलब की इसरो अपने पहले प्रयास में मंगल ग्रह पर पहुचने वाला एक मात्र देश ही. जिसमे अमेरिका 5 बार सवियत संघ कुल 8 बार और रुच, चीन, जैसे सभी देशो अपने पहले प्रयास में असफल रहे थे.

8. क्या आपको पता भी है की इसरो का मंगल मिशन आज तक का सबसे सस्ता है जो की सिर्फ 450 करोड़ मतलब की 12 रूपये प्रति किलोमीटर जो की एक ऑटो के बराबर है.

9.क्या आप जानते है की हमारा मंगल मिशन हॉलीवुड की कई फिल्मो से भी सस्ता है.


10.आपको पता है की भारत के पहले रोकेट के लोंच करते समय में भारतीय वैज्ञानिक हररोज तिरुवनंतपुरम से बसों में आजे जाते थे और रेलवे स्टेशन से दोपहर का खाना खाते थे. और पहले राकेट के कुछ हिस्सों को साईकिल पर भी ले जाया गया था.

∘ इसे भी पढ़े : इन लोगों की बातों पर ध्यान नहीं देना चाहिए, भगवान शिव ने पार्वती को बताया था

11.आप जानते है इसरो का केंद्र बजट सरकार के कुल खर्च ला 0.34% और GDP का 0.08% है

12.क्या आप जानते है इसरो ने गूगल अर्थ का देशी वर्जन भुवन बनाया है और ये वेब आधारित 3D 3D सेटेलाइट इमेजरी टूल है.


13. बहुत सरे देश नौवहन उद्देश्य के लिए अमेरिका के GPS पर निर्भर थे तभी ISRO में अपना खुद का नौवहन सेटेलाइट, IRNSS लांच कर चुका था.

14अब तक के पिछले 40 साल का खर्च NASA के एक साल के खर्च से आधा है, और अभी तक की NASA की इन्टरनेट स्पीड 91 GBps है पर इसरो की इन्टरनेट स्पीड मात्र 2 GBps ही है.

15. क्या आपको लगता है की ISRo एक छोटी सी संस्था है? पर आप की जानकारी के लिए हम आपको बता दे की कुछ साल पहले इसरो ने 14 अरब रूपये की कमाई की है.

∘ इसे भी पढ़े : ऑस्ट्रेलिया के कुछ अजीबो-गरीब और हैरान करदेने वाले कानून क्या आपको पता है? 

16. 2008-2009 में इसरो ने चंद्रयान-1 लोंस किया था जिसका बजट 350 करोड़ था जो की नासा से 8-9 गुना कम था. और इसी ने चाँद पर पानी की खोज की थी.

17. SLV-3 भारत के द्वारा लोंच किया गया पहला स्वदेशी उपग्रह था और इस प्रोजेक्ट के डायरेक्टर डॉ. कलाम थे.

18. अगर आप चाहे तो इसरो से सैटेलाइट का डेटा भी खरीद सकते हो.

19. ANTRIX ये इसरो के कॉमर्शियल डिवीज़न है जो की हमारे स्पेस स्पेस तकनीक को दुसरे देश तक पहुचाती है, और इसके बोर्ड of डायरेक्टर देश के दो बड़े बड़े उद्योगपति है जो है रतन टाटा और जमशेद गोदरेज.

∘ इसे भी पढ़े : जानिये चाणक्य के जीवन से जुडी कुछ बातें , और चाणक्य की मौत का कारण

20. कोई और संगठनो के मुकाबले इसरो में सबसे ज्यादा सिंगल साइंटिस्ट है, इन्होने कभी शादी नहीं की और पूरा जीवन इस संगठन को समर्पित कर दिया.

21. आर्यभट इसरो का सबसे पहला उपग्रह जो 19 अप्रैल 1975 को रूस की सहायता से लोंच किया गया था.

22. क्या आप जानते है की एप्पल सैटेलाइट को संसाधनों की कमी की वजह से बैलगाड़ी पर ले जाया गया था.


∎ इसे भी पढ़े :

∘ आपके ही WHATSAPP, मोबाइल और टीवी के सहारे विदेशी रखते हैं आप पर 24 घंटे नज़र
∘ नरेन्द्र मोदी की इन बातों से लोग होते है प्रभावित, जानीये क्या है वो, दमदार बातें
∘ ये कुछ बातें पढ़कर आप किसी को भी इम्प्रेस कर सकते हो
∘ डोनाल्ड् ट्रंप से जुडी कुछ रोचक बातें 
∘ संस्कृत भाषा से जुडी कुछ महत्वपूर्ण बाते, जो आपको पता नहीं होगी! 
∘ सपनो की दिनिया के बारे में कुछ रोचक जानकारी ! 
∘ 53 ऐसी बातें जिसे जान कर आप दांतों तले उंगलिया दबा देंगे, और बोलेंगे वाह यार क्या जानकारी दी है. 




नोट: ये आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें जरूर बताये क्योंकि आपके एक कमेंट से हमें प्रेरणा मिलती है और भी अच्छा लिखने की.... तो प्लीज कमेंट जरुर करे और अपना सुजाव दे. 

अगर आपके पास भी कोई हिंदी में लिखा हुआ प्रेरणादायक, कहानी, कविता, सुझाव, या फिर कोई भी ऐसा लेख जिसको पढ़कर पढने वाले को किसी भी प्रकार का मार्गदर्शन या फायदा होता है तो आप उसे हमारे साथ शेयर करना चाहते है तो अपनी फोटो और नाम के साथ हमें ईमेल करे. हमारी Email ID है  hindimekahe@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ हमारी वेबसाइट पर पब्लिश करेंगे.



1 comment:

  1. इसरो अंतरिक्ष में सफलता की रोज नई गाथा लिख रहा है. इसरो ने इतिहास रचने के लिए एक और कदम बढ़ाते हुए GSLV Mark-3 को लॉन्च किया है. इसरो से जुड़े रोचक तथ्य जानने के लिए इस लिंक को ओपन करें>>> https://goo.gl/w0RJCt

    ReplyDelete

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा