पुराणों में वर्णित यमराज और यमलोक से जुड़े ये रहस्य - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Tuesday, 24 October 2017

पुराणों में वर्णित यमराज और यमलोक से जुड़े ये रहस्य




फ्रेंड्स, हमारे शास्त्रों के मुताबिक अगर कोई इन्सान की मृत्यु हो जाती है तो उसके बाद उसकी आत्मा को एक सूक्ष्म शरीर में प्रवेश हो जाता है और उसके बाद यमराज के पास यमलोक में जाना पड़ता है. हमारे पुराणों में कई रहस्य बताये है यमलोक के बारे में जिन्हें आप हम आपके सामने रखने वाले है.




⃘ इसे भी पढ़े: अवश्य करे हनुमान जी का ये शक्तिशाली मन्त्र प्रयोग धन लाभ के लिये

⃘ इसे भी पढ़े: क्या आपके साथ भी एसा हो रहा है

जाने यमराज और यमलोक से जुड़े रहस्य 


1. मृत्यु के बाद परलोक में जिव सबसे पहले यमराज और वरुण को ही देखता है.


2. पद्म पुराण के मुताबिक यमलोक पृथ्वी से 86,000 योजन मतलब की 12 लाख किलोमीटर दूर है.


3. यमराज का ही दूसरा नाम धर्मराज है क्योकि ये धर्म और कर्म के अनुसार सभी जीवो को अलग-अलग योनीयों में भेजते है.

4. धर्मराज भगवान् विष्णु की तरह अछे लोगो को दर्शन देते है और पापियों को उग्र रूप में.


5. यमलोक में पुप्पोदका नाम की एक नदी है जिसका जल अति शीतल और सुगन्धित है, और इस नदी में विशाल जन्घो वाली अप्सराये क्रीडा करती रही है.

6. यमराज की नगरी की लम्बाई 48 हजार किलोमीटर और चौड़ाई 22 हजार किलोमीटर की है.

7. यम लोक के द्वार पर दो विशाल कुत्ते पहरे देते है जिसका उल्लेख हिन्दू ग्रंथो के साथ साथ पारसी और यूनानी ग्रंथो में भी मिलता है.








Loading...



8. ऋग्वेद में उल्लू और कबूतर को यमराज के दूत बताये गए है और गरुड़ पूरण में कौवो को यमराज का दूत बताया गया है.

9. यमराज का एक विशाल राजमहल है जो की कलित्री के नाम से जाना जाता है, और यमराज अपने इस महल में विचार-भू.नाम के सिंहासन पर बिराजमान रहते है.

10. यमलोक के कुल चार द्वार है जिसमे पूर्वी द्वार से धर्मात्मा और अछि आत्माओ को प्रवेश मिलता है और दक्षिण द्वार से पापियों को प्रवेश मिलता है.

11. यमलोक में बड़े बड़े राज मार्ग है जिसका गरुड़ पूरण में वर्णन मिलता है, इस लोक में यमराज और उसके सहायक चित्रगुप्त जी का भी महल है.


⃘ इसे भी पढ़े:  जानिए गुप्त संकेत जो कि धन प्राप्ति से जुड़े है


आपको ये आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताये।


नोट: ये आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें जरूर बताये क्योंकि आपके एक कमेंट से हमें प्रेरणा मिलती है और भी अच्छा लिखने की.... तो प्लीज कमेंट जरुर करे और अपना सुजाव दे. 

अगर आपके पास भी कोई हिंदी में लिखा हुआ प्रेरणादायक, कहानी, कविता, सुझाव, या फिर कोई भी ऐसा लेख जिसको पढ़कर पढने वाले को किसी भी प्रकार का मार्गदर्शन या फायदा होता है तो आप उसे हमारे साथ शेयर करना चाहते है तो अपनी फोटो और नाम के साथ हमें ईमेल करे. हमारी Email ID है  hindimekahe@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ हमारी वेबसाइट पर पब्लिश करेंगे.


2 comments:

  1. बहुत ही अच्छी जानकारी प्रस्तुत की है। यम के किस्से और पब्लिश कीजिए। बहुत रोचक होते हैं।

    ReplyDelete
  2. आपका बहुत बहुत धन्यवाद जमशेद जी :)

    में और भी कई सारी रोचक जानकारिया यहाँ पर शेयर करूँगा.

    ReplyDelete

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा

Loading...