क्या आपको पता है क्रिकेटर्स के बैट में लगाए जा रहे हैं छोटे-छोटे सेंसर, क्या है कारण जानिए - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Thursday, 19 December 2019

क्या आपको पता है क्रिकेटर्स के बैट में लगाए जा रहे हैं छोटे-छोटे सेंसर, क्या है कारण जानिए

जैसे की हम सभी जानते है की की क्रिकेट में टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल बहुत हो गया है जैसे की ड्रोन शॉट्स, डीआरएस, स्लो मोशन रीप्ले जैसी कई सारी तकनीको को यूज़ किया गया है.


पर क्या आपको पता है की इसी तकनीक के होते हुए विरोधी टीम की अपनी रणनीति बना रही है जैसे की विरोधी टीम की विडियो क्लिप देख कर उसकी खामियों को तलाश ती है. और उनकी क्या कमजोरी है उसका अंदाजा लगाती है.




सेंसर्स का सस्पेंस



क्या आप को इस सस्पेंस का पता है की खिलाडी के बैट के हैंडल पर छोटे से सेंसर आने नजर आते है. पर क्या आप जानते है की ये टेक्नोलॉजी का अविष्कार किस महारथी ने किया है ? अगर नहीं तो हम आपको बतादे की ये अविष्कार इंटेल कंपनी ने किया है. ये सेंसर से ये पता चलता है की खिलाडी की बैट की स्पीड कितनी है, बैट लिफ्ट, बैट एंगल और गेंद खेलते वक्त बैट की पोज़ीशन का भी पता चलता है और देता भी सेव करता है.

इससे और भी बहुत कुछ बातें पता चल सकती है जैसे की खिलाडी किस लेंथ की गेंद पर कब प्रहार करने के लिए तैयार हो रहा है और वे अपना शॉट समय से पहले खेल रहा है की बाद में खेल रहा है या तो वो इस गेंद पर चोका लगाएगा की चक्का ये भी बाते पता चल सकती है.


ड्रोन बताएगा सटीक पिच रिपोर्ट



ये टेक्नोलॉजी के इलावा ड्रोन का भी काफी अच्छा उपयोग हो रहा है जैसे की इसमें एचडी और इंफ्रारेड कैमरा लगे हैं. कॉमेंटेटर जब भी पिच पर चर्चा करेंगे तो वे ड्रोन द्वारा ली गयी तस्वीरों के आधार पर ही पिच का आकलन कर के पिच रिपोर्ट पेश करेंगे. इस ड्रोन का नाम “इंटेल फेल्कॉन ड्रोन 8” है

इन सभी तकनीको के आधार पर काफी कुछ पता चल सकता है जैसे की घास की सेहत कैसी है, घास पर ओस कितनी है, घास पर कितना सूखापन आदि की सटीक जानकारी मिल सकती है.


देखे विडियो : 




loading...

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा