डेंगू से डरिये नही, जाने डेंगू के लक्षण और बचने के आसन उपाय - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Friday, 8 September 2017

डेंगू से डरिये नही, जाने डेंगू के लक्षण और बचने के आसन उपाय

डेंगू एक ऐसा ख़तरनाक वायरल रोग है जो पूरी दुनिया में पाया जाता है, पर हम आपको ये बतादे की संक्रमित मादा एडीज एजिप्टी मच्छर के काटने पर ये फेलता है और एक अकेला ही संक्रमित मच्छर बहुत सारे लोगो को डेंगू फेला सकता है. ज्यादातर ये बच्चों में तेजी से फैलता है. इसका सबसे अच्छा उपाय है की खुद को मच्छरों से बचाए और शरीर की इम्युनिटी पावर बढ़ाये ये सबसे अच्छे और कारगर उपाय है.
image : onlymyhealth.com
डेंगू कैसे फेलता है
  • डेंगू फेलाने वाला मच्छर ज्यादातर दिन में ही कटता है.
  • ज्यादातर डेंगू की मच्छर घर के आसपास जमा पानी के अंदर पनपते है.
  • डेंगू के मामले ज्यादातर बरसात के दिनों में अ देखने को मिलते है.


  • जो लोगो की रोग प्रतिकारक क्षमता कम होती है वो आसानी से डेंगू के शिकार हो जाते है.

    image :firstpost.com
डेंगू के लक्षण
  • भूख कम लगना
  • मांस पेशियो और जोड़ो में भयंकर दर्द होना
  • सर और आँखों में दर्द होना
  • ब्लडप्रेशर कम हो जाता है
  • त्वचा पर लाल रंग के दाने बन जाना
  • सर और आँखों में दर्द सा होना
  • जी मचलने के साथ साथ उल्टी और दस्त होना
  • कमज़ोरी के साथ साथ चक्कर आते है
  • प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से कम हो जाना और नाक, मुंह कान या अन्य अंगो से रक्तस्राव होना.
यह भी जान लें

कुछ अन्य रोग या बुखार के लक्षण भी डेंगू से मिलते जुलते है पर कभी-कबार कुछ रोगों में भी बुखार के साथ उपरोक्त लक्षणों में से कुछ लक्षण दिखाई देते है और डेंगू भी पॉजिटिव आ जाता है. इसलिए हमें सभी लक्षणों के प्रकट होने का इंतजार नहीं करना चाहिए और तुरंत डॉक्टर से संपर्क करलेना चाहिए. आपको बुखार चाहे कैसा भी आये पर दो से तिन दिन तक अगर बुखार रहता है तो हमें तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क बनाना चाहिए. अगर सही समय पर मरीज को इलाज ना मिले तो मरीज कोमा में भी जा सकता है. हमारे देश में इसकी कई स्थानों पर मुफ्त में जाँच उपलब्ध है.
image : amarujala.com
डेंगू से लड़ने के लिए बचाव और उपचार
  • घर के अंदर तुलसी का पौधा लगाने से मच्छरों से बचाव होता है.
  • नीम की सुखी पत्तियों और कपूर की घर में धुनी करने से मच्छर मर जाते है या घर में छिपे हुए मच्छर घर से भाग जाते है.
  • तुलसी,निम ,पतिते की पत्तियों का रस, गेंहू के ज्वरो का रस, ग्वारपाठे का रस आदि डेंगू से बचाव में काम आते है और इनसे शरीर की रोग प्रतिकारक शक्ति भी बढती है साथ ही में वायरस से भी मुकाबला करने की ताकत आती है.


  • घर के अंदर या घर के आसपास पानी इकठ्ठा ना होने दे. घर में बर्तनों आदि में भी पानी ना रहने दे और घर में साफ सफाई का ध्यान रखे. कूलर के अंदर का पानी रोज बदलते रहे. अगर आप कूलर का इस्तेमाल अभी नहीं कर रहे है तो उसे सुखा कर रख दे.
  • मच्छर विरोधी क्रीम, लिक्विड, स्प्रे आदि का प्रयोग करे मच्छरों से खुद को बचाने के लिए.
  • ऐसे कपडे पहने जिससे शरीर का ज्यादातर हिस्सा ढंका हुआ रहे.
  • 25 ग्राम ताजी गिलोय का तना लेकर उसे कूट ले, उसमे 4 से 5 तुलसी के पत्ते और 2 से 3 कलि मिर्च पीसकर एक लीटर पानी में उबाले. जब से एक चौथाई हो जाए तो इसे तिन बराबर के हिस्सों में बाँट ले. ये काढ़ा डेंगू, चिकन गुनिया, स्वाइन फ्लू जैसे कई सारे वायरल इंफेक्शन से बचाने में बहुत उपयोगी है
कैसी लगी आपको हमारी ये विशेष जानकारी ?
हमें कमेंट करके जरुर बताये.
अपने दोस्तों को share करना ना भूले.
Image Copyright: amarujala.com

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा