ये है दुनिया के सबसे जहरीले पौधे, इनसे बचकर रहे हंमेशा - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Friday, 30 March 2018

ये है दुनिया के सबसे जहरीले पौधे, इनसे बचकर रहे हंमेशा

हमारी ये दुनिया अद्भुत रहस्यों से ही भरी हुई है. यहाँ कई सारी ऐसी चीज़ें मौजूद हैं जिन पर विश्वास नहीं होता है उदाहरण के लिए पौधे ही हैं जो आमतौर पर हम मनुष्य के लिए वरदान माने जाते हैं जिससे हमें न सिर्फ प्राणवायु ऑक्सीजन मिलती है, बल्कि यह पृथ्वी के उस पर्यावरणीय संतुलन को बनाये रखने मे एक कारगर भूमिका अदा करते हैं जिससे जीवन संभव है. आज हम आपको कुछ पौधों के बारे मे बताएँगे जो अत्यंत जहरीले हैं तो आप भी बचके रहिये.

ये है दुनिया के सबसे जहरीले पौधे
सुसाइड ट्री : ये केरल और आसपास के समुद्र तटीय क्षेत्रों मे ज्यादातर पाया जाता है. इसके फल के बीज अत्यंत ही जहरीले होते हैं. इसमें एल्कलॉइड होता है, जो कार्डियो टॉक्सिक है जो ह्रदय और श्वसन तंत्र के लिए बेहद ही हानिकारक है और इससे केरल मे कई मौतें हुई भी हैं.

विस्टेरिया : यह एक बैंगनी रंग का फूल हैं जो मुख्य रूप से जापान, संयुक्त राज्य अमेरिका के कुछ ही हिस्सों में पाया जाता है और साथ-साथ चीन मे भी पाया जाता है. इस पौधे के किसी भी हिस्से को खाने से मुख्यतः माइग्रेन या सिरदर्द, कमजोरी, दस्त या बुखार जैसी परेशानियाँ होने लगती है.


यूरोपियन यू : ये यूरोप के सर्वाधिक पुराने पेड़ों मे से एक है. यह आम तौर पर धीमी गति से बढ़ते हुए 132 फीट तक लंबा हो सकता है. iske पौधे की पत्तियों गहरे-हरे रंग की होती हैं. इससे दिल का दौरा सहित ह्रदय की अन्य बीमारियां भी होने लगती है.



अरंडी : यह भारत के अलावा फ़्रांस, स्पेन, इटली, अमेरिका, लीबिया, तंजानिया, कीनिया आदि देशों में पाया जाता है। इसका बीज बहुत जहरीला होता है जिसमे टोक्सिन नमक प्रोटीन तत्व पाया जाता है जिससे ब्लड प्रेशर के साथ साथ पेट सम्बन्धी समस्याएं भी हो सकती हैं और समय पर इनका सही तरीके से इलाज न होने पर मौत भी हो सकती है.
डॉल्स आईज : यह पेड़ उत्तरी कनाडा,  अमेरिकी स्टेट मिनसोटा,जॉर्जिया सहित विश्व के कई सारे देशों मे पाया जाता है. इसका फूल सफ़ेद और काले रंग का होता है. इसके घटक ज़हर से कार्डिक अटैक भी आ सकता है. इससे मनुष्यों के अलावा पशु पक्षियों को भी खतरा रहता है.
कनेर : कनेर भारत सहित अमेरिका पुर्तगाल मोरक्को आदि देशों मे सबसे ज्यादा पाया जाता है,  इसका बीज इतना विषैला होता है की एक बीज का सेवन भी जान लेने के लिये काफी है, कनेर का जहर डाइगाक्सीन ड्रग की तरह ही है जो डाइगाक्सीन दिल की धड़कन की रफ्तार कम करता है. कनेर का एक बीज डाइगाक्सीन के सौ टैबलेट के बराबर होता है. पहले तो यह दिल की धड़कन को धीमा करता है और बाद में एकदम रोक दोता है.
लकी नट : यह आकर्षक पौधा अमेरिका के उष्ण कटिबंधीय क्षेत्रों मे ज्यादा पाया जाता है जो 23 फीट तक बढ़ता है और इसमें 12 महीने फूल लगते है. वृक्ष के सभी हिस्से ग्लूकोसाइड के कारण ह्रदय के लिए हानिकारक होते हैं,  साथ ही पेट में दर्द और दस्त, गले मे जलन जैसी परेशानियाँ भी होने लगती हैं.



अगर आप कभी किसी जंगल में या पहाड़ों में भटक जाएं तो कभी भी आप किसी अनजान पौधे या उसके फल को खाने की गलती ना करें. क्युकी ये जानकारी आपको इसीलिए दी गयी है जिससे आपको ये पता रहे कि कौन सा पौधा आपके लिए नुकशान पंहुचा सकता है.
आपको ये जानकारी कैसी लगी?

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा