मौत से पहले शरीर देता है ऐसे संकेत, क्या आप जानना चाहेंगे

मौत का भय कीसको नहीं लगता? हम हमारे शरीर का हमारे देह का कितना ध्यान रखते है पर फिर भी एक ना एक दिन तो मौत हमारे पास आने ही वाली है. भगवान श्री कृष्णा ने भी गीता में ऐसा ही कहा है जिसका जन्म हुआ है उसकी मृत्यु भी निश्चित होगी, चाहे वो कैसे भी रंग का हो या उसके कैसे कर्म हो.


आज हम आपको मृत्यु के बारे में ऐसे तथ्य बताने वाले है जो आपको पहले कभी भी पता नहीं होगा. आज हम आपको हिन्दू धर्म के गुरुओं और ऋषियों ने मृत्यु के लक्षणों को कल्कि पुराण में पहले से ही दे दिया है तो आइये जानते है क्या है वो लक्षण.



मृत्यु से जुड़े कुछ लक्षण जानिए
अगर किसी भी व्यक्ति के शरीर से लाश की तरह गंध आणि शुरू हो जाती है तो वो करीब 15 दिनों के अंदर ही मर सकता है.
अगर कोई व्यक्ति तेज आवाज को सुन नहीं पाता तो उसकी मृत्यु तय है.
कोई व्यक्ति की त्वचा का रंग पिला या सफ़ेद पड़ जाए तो उस व्यक्ति की 6 माह के अंदर ही मौत हो सकती है.


कोई इंसान अपना बाया हाथ लगातार सात दिनों तक हिलाता रहता है तो वो 1 महीने के अंदर मरने वाला है.
यदि किसी इंसान की जीभ बड़ी हो रही है या दांतों में चिकना प्रदार्थ जमा होता दिख रहा है तो वह छह महीने के अंदर मर सकता है.





कोई भी कारण के बिना अचानक आँखों से आंसू निकलने लगे और सर से भाप जैसी उठती दिखे तो वो शाम तक मर सकता है.
यदि किसी व्यक्ति को मूत्र विसर्जन करते समय लगातार हिचकी आती है तो उसकी मृत्यु तय है.
अगर कोई इंसान किसी वजह से कोई भी चीज का स्वाद या गंध महसूस नहीं कर पाटा तो वो जल्द ही मर सकता है.
नोट: ये जानकारी पुराणों के आधार पर ली गयी है, इसका किसी जीवित व्यक्ति या मृत व्यक्ति के साथ कोई संबंध नहीं है, ये जानकारी सिर्फ आपको जानने के लिए दी गयी है.
आपको ये जानकारी कैसी लगी?

Previous article
Next article

Leave Comments

Post a comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी

loading...
loading...
loading...