आपमें से शायद ही कोई ऐसे लोग होंगे जिन्होंने पल्स कैंडी को न चखा हो, हर कोई इस कैंडी की तारीफ़ करता फिरता है क्युकी इसके अंदर का खट्टा स्वाद और साथ में जलजीरा का फ्लेवर इसे और भी खास बनाता है.
youtube
दोस्तों ये एक अलग ही तरीके का कैंडी क्युकी ये पिछले दो साल से सबका पसंदीदा कैंडी बन चूका है. मार्किट में इसकी डिमांड भी बहुत ज्यादा है और सप्लाई बेहद ही कम है. बात तो यहाँ तक पहुच गयी है की मार्किट में इसकी डुप्लीकेट भी निकाल दी, कोई भी टॉफी का ऐसा क्रेज आपने शायद ही पहले देखा होंगा.
पल्स कैंडी के बारे में कुछ रोचक बातें
पल्स कैंडी टॉफी बनाने का आईडिया असल में इसके निर्माता को ‘CANDY CRUSH’ गेम खेलते हुए आया था.
youtube
पल्स कैंडी के मार्केट में लांच के बाद हर सेकंड में करीब 50 Candies से भी ज्यादा बिकते थे.
इसकी की डिमांड इतनी ज़्यादा है कि इससे 50 % से भी ज़्यादा दाम पर ये ब्लैक मार्किट में बिकती है.






Loading...
पल्स कैंडी के अभी तक कम से कम 10 से भी ज्यादा नकली ब्रांड्स बाज़ार में आ चुके हैं. इन्हें देखकर कोई नहीं भी नहीं बता सकता कि ये असली Pulse है या नकली.
youtube
क्या आप जानते है की पल्स कैंडी की निर्माता DS group की टीम ने करीब दो साल के रिसर्च के बाद इस कच्चे आम के फ्लेवर को खोजा जिसमें अंदर जलजीरा का भी मसाला है डाला जाता है.
क्या आपको इस बात पर यकीन होगा की पल्स कैंडी ने मार्केट में लांच होने के 8 महीने में ही 100 करोड़ का बिज़नेस कर लिया था. जबकि इनका कोई भी मार्केटिंग बजट भी नहीं था.
Pulse ग्रेन प्राइस के खिलाफ जाकर इसकी कीमत 1 रुपये प्रति कैंडी रखी गयी है जबकि अन्य कंपनियों ने इसी श्रेणी की टॉफी जैसे Mango Bite और Alpenliebe Mango की कीमत सिर्फ 50 पैसे ही रखी गयी थी.