अगर आप भी पहनते हैं रुद्राक्ष की माला तो जरूर ध्यान रखें ये बातें - SupportMeYaar.com

Breaking

loading...

Wednesday, 27 May 2020

अगर आप भी पहनते हैं रुद्राक्ष की माला तो जरूर ध्यान रखें ये बातें

क्या आप भी रुद्राक्ष की माला पहनते है? सभी रुद्राक्ष में सबसे ज्यादा महत्व पंचमुखी रुद्राक्ष ही महत्व रखता है. रुद्राक्ष पहनने से भगवान् शिव की विशेष कृपा हम पर बनी रहती है. पर इसे धारण करने के लिए भी कुछ सावधानिया बरतनी चाहिए और कुछ विशेष नियम भी बनाये गये है. आज हम आपको रुद्राक्ष को कैसे धारण करते है और क्या क्या सावधानिया बरतनी चाहिए उनके बारे में बताने वाले है.

Youngisthan
रुद्राक्ष को कैसे धारण करे और क्या सावधानिया रखे
अगर आपको रुद्राक्ष धारण करना है तो शिव मंदिर से कोई भी ब्राह्मण के हाथो ही धारण करे.



रुद्राक्ष को अभिमंत्रित करे बाद में ही धारण करे.
वैसे तो हर समय रुद्राक्ष पहना जा सकता है पर किसी की अंतिम यात्रा में या किसी नवजात शिशु के जन्म लेने के समय पर इसे धारण ना करे.
रुद्राक्ष को कभी भी अशुद्ध मिट्टी लगे हाथो से कभी नहीं छुना चाहिए.

Rudraveda
अगर आप रुद्राक्ष को हर समय धारण नहीं कर सकते तो उसे अपने मंदिर में रख दे और उसकी हररोज पूजा करे.
रुद्राक्ष को खरीदने के लिए अपनी मेहनत से कमाए हुए पैसो से प्राप्त करे ना की उधार के पैसो से.
अगर आप रुद्राक्ष की माला हररोज पहनते है तो कभी भी मांसाहार और मदिरा का सेवन ना करे.
रुद्राक्ष को किसी भी शुभ दिन पर ही पहनना चाहिए, सोमवार को या गुरूवार को.
नियमित रूप से रुद्राक्ष की माला को साफ करते रहे उस पर धुल या गंदगी हो तो उसे तुरंत साफ़ करदे और सफाई के बाद पवित्र पानी से धो ले.




123rf
माला से जुदा हुआ धागा मजबूत हो अगर कमजोर हो जाए तो उसे तुरंत ही बदलदे.
रुद्राक्ष की माला को हलके हाथो से तेल लगाकर साफ करना चाहिए, और बाद में उसे धुप के सामने रखकर प्राथना करनी है.



रुद्राक्ष को लेकर हर बार भ्रम होता है की ये कही नकली तो नहीं, तो आपको उसमे देखना चाहिए की उसका मुख एकदम स्पष्ट है की नहीं और उसके मुख्य केंद्र के आसपास कही कोई दरार तो नहीं.
ये सब सावधानिया अगर हम अच्छे से बरतते है तो हमें रुद्राक्ष पहनने का पुरे का पूरा फायदा मिलेगा, बाकि तो बस फैशन जैसा लगता है.

  1. अब आप भी उंगलियों की लम्‍बाई से जान सकते है कैसा है किसी का भी नेचर - New!
  2. ऋषि-मुनि कैसे कर लेते थे लगातार 84 सालों तक साधना, जानिए
  3. ऐसे लोगो को मृत्यु का सामना जल्द करना पड़ सकता है
  4. कौमार्य फिर से मिल जाता था द्रौपदी को, जाने ऐसी ही कुछ रोचक बातें
  5. क्या आपके सपने में भी दिखाई देता है कोई अनजान चेहरा, तो इसे जरुर पढ़े
  6. तंत्र क्रियाएं शमशान में ही क्यों की जाती हैं, जानिए New!

No comments:

Post a comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा