वकील काला कोट और डॉक्टर सफेद कोट क्यों पहनते हैं, जरुर पढ़े - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Monday, 13 November 2017

वकील काला कोट और डॉक्टर सफेद कोट क्यों पहनते हैं, जरुर पढ़े

हम सब को पता है कि हर काम के लिए के एक यूनीफॉर्म होती है. पुलिस वाले खाकी रंग पहनते हैं. वकील काला कोट पहनते हैं, और डॉक्टर्स सफेद कोट पहनते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि वकीलों के द्वारा पहना जाने वाला काला कोट अंग्रेजो की ही निशानी है, जिसको आज तक भारत में भी चलाया जा रहा है. दरअसल यूरोप में न्यायाधीश और वकील लबादे पहनते हैं. इसी के साथ ही पश्चिमी देशों पुराने राज दरबारों और गिरिजाघरों के पादरी भी यही पहना करते थे.

supportmeyaar
आमतौर पर देखा जाये तो इन लबादों का रंग लाल, काला और सफेद ही होता है. तो आज हम आपको बताते हैं कि आखिर क्या कारण है, जिसकी वजह से वकील काला और डॉक्टर सफेद कोट पहनते हैं.

supportmeyaar
 काले और सफेद कोट पहनने का कारण
काले और सफेद लबादे पहनने के पीछे की वजह ये है कि इन दोनो के कामों में अंतर्विरोधी प्रवृत्ति होती है. असल में न्याय से जुड़े लोगों को दो विपरीत धारणाओं के बीच की न्यायपूर्ण फैसला करना पड़ता है इसीलिए काला और सफेद रंग दो अलग-अलग धारणाओं का प्रतीक है. इसके पीछे भी एक धारणा ये है कि काला रंग सुरक्षा का प्रतीक होता है और वकील का काम अपने मुवक्किल की सुरक्षा करना ही होता है इसीलिए वकीलों को काला कोट पहनना होता है.

Supportmeyaar
 डॉक्टरों को सफेद कोट पहनने की शुरुआत बीसवीं सदी के आसपास हुई थी. असल में यह रंग स्वच्छता का ही प्रतीक है और इसी के साथ ही यह रंग व्यक्ति की ईमानदारी, पवित्रता और निष्ठा का भी प्रतीक भी माना गया है. इसलिए दुनिया की सभी सभ्यताओं में सफेद रंग को श्रेष्ट और पवित्र माना गया है. इसीलिए डॉक्टर सफेद रंग का कोट पहनते हैं.
आपको ये जानकारी कैसी लगी?
सभी ताजा अपडेट पाने के लिए हमारे Facebook पेज को लाइक करे.

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा

Loading...