भारत के सबसे छोटे CEO, कमाई है 120 करोड़ सालाना - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Friday, 5 January 2018

भारत के सबसे छोटे CEO, कमाई है 120 करोड़ सालाना

मिलिए भारत के सबसे छोटे CEO से, कमाई 120 करोड़ सालाना !
क्या कोई खेलने की उम्र में करोड़ो की कंपनी का मालिक बन सकता है? अगर दिल में जज्बा हो तो कोई भी काम मुश्किल नहीं है. आज हम बात कर रहे है श्रवण और संजय की जिनकी उम्र 14 साल और 12 साल है. ये दोनों भारत देश के सबसे छोटे एंटरप्रेन्योर है.

koreaherald
मिलिए भारत के सबसे छोटे CEO से
इन दोनों ने मिलकर साल 2012 में ‘डिजाइन डाइमेंशन्स’ नाम का ऐप बनाया था. आज इसकी ऐप गूगल प्ले स्टोर और आईट्यून्स दोनों बड़े प्लेटफार्म पर मौजूद है. आपकी जानकारी के लिए बतादे की इनकी कंपनी की सालाना कमाई 120 करोड़ रूपये है.
इन दोनों ने अभी तक कुल 12 ऐप डेवलप किये है और ये दोनों भाई चेन्नई के रहने वाले है. आज हम इन्ही दो भाइयो के बारे में रोचक बातें बताने वाले है जिसको आप नहीं जानते होंगे.
श्रवण कंपनी के प्रेसिडेंट है और संजय सीईओ है. इन दोनों भाई में इतना टेलेंट है की आईआईएम-बेंगलुरु और टेडेक्ट कॉन्फ्रेंस में अपना प्रजेंटेशन भी दे चुके है.

daijiworld
भारतीय कानून के मुताबिक इनकी कंपनी उनके परिवार के दुसरे मेंबर्स के नाम पर चलती है.
इन दोनों भाई ने अपनी पहली एप्लीकेशन बनाई तब एक सातवीं और एक आठवीं क्लास के स्टूडेंट थे.
श्रवण जब तीसरी क्लास के स्टूडेंट थे तब उसके पिता ने एक डेस्कटॉप ले दिया था. बाद में श्रवण ने पीपीटी एप्लीकेशन के बारे में खूब पढ़ा और उन्हें ठीक से समजा.

rediff
फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग श्रवण और संजय को टेलेंट का लोहा मानते है.
इस दोनों भाइयो ने साल 2012 में ‘डिजाइन डाइमेंशन्स’ नाम की एक एप्लीकेशन भी लोंच की है.
बाद में दोनों भाइयो ने स्कूल के टीचर से पीपीटी के बारे में जानकारी ली और पिताजी के पास से प्रोग्रामिंग की जानकारी ली थी.

India Today
ये दोनों भाई अपना आदर्श एप्पल कंपनी के फाउंडर स्टीव जॉब्स को मानते है, पर क्या आपको पता है की एप्पल कंपनी के द्वारा इन दोनों भाइयो को भारत के सवसे यंग मोबाइल ऐप प्रोग्रामर का दर्जा हासिल है.
क्या आपको पता है इन दोनों भाइयो ने चीन, यूएस और कई सारी इंडियन कंपनियों के साथ कॉन्ट्रैक्ट किया हुआ है.
अभी ये दोनों भाई बेसिक जावा की जानकारी हासिल कर रहे है.
संजय ने ये जानकारी देते हुए कहा था की एक बात अब्दुल कलाम हमारी स्कूल पर आये थे और उन्हें हमारी एप्लीकेशन काफी ज्यादा पसंद आई थी.

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा