भारतीय टीम के इस खिलाडियों ने कॉलेज का दरवाज़ा तक नहीं देखा, सिर्फ 12वीं और 9वीं पास है - SupportMeYaar.com

Breaking

loading...

Monday, 11 May 2020

भारतीय टीम के इस खिलाडियों ने कॉलेज का दरवाज़ा तक नहीं देखा, सिर्फ 12वीं और 9वीं पास है

आज हम हमारी भारतीय टीम के बारे में बात करने वाले है जो अपने काफी अच्छे प्रदर्शन से दुनिया को अपना दीवाना बना रही है, पर कुछ खिलाड़ी ऐसे भी है जिसका प्रदर्शन काफी ख़राब रहा है. आप हम आपको इस आर्टिकल में भारतीय टीम के खिलाडियों की शैक्षणिक योग्यता के बारे में बताने वाले है जिसको जानकार आप हैरान हो जायेगे और बोलेंगे की क्या ऐसा भी हो सकता है आज करोड़ो कमा रहे ये खिलाडियों ने सिर्फ इतनी ही पढाई की है.


एक समय ऐसा भी था जब भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली की टीम में पढ़े-लिखे खिलाडियों की कोई भी कमी नहीं थी, पर अभी हाल के समय में विराट की टीम में आधे से ज्यादा तो ऐसे खिलाड़ी मौजूद है जिन्होंने कॉलेज का दरवाज़ा तक नहीं देखा.
आपको ये बात जानकार हैरानी होंगी की भारतीय टीम के कप्तान विराट खुद सर्फ 12वीं तक ही पढ़े है.
हाल में श्रीलंका के दौरे पर चल रहे भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा भी सिर्फ 12वीं तक ही पढ़े हुए है.
6 बोल में 6 छक्के लगाने वाले धुरंधर बल्लेबाज युवराज सिंह भी सिर्फ 12वीं पास है.
क्या आप जानते है इन सभी 12वीं क्लास पास खिलाडियों के रिकॉर्ड भी एक युवा खिलाड़ी तोड़ चूका है जो सिर्फ 9वीं क्लास पास ही हैम जी हां आप सही सुन रहे है जिसका नाम है हार्दिक पंड्या.

जिसको हम भारतीय टीम का गब्बर मानते है वो शिखर धवन भी 12वीं पास ही है.
भारतीय टीम में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने भी सिर्फ 12वीं तक ही पढाई की है.
भारतीय टीम के स्पिन गेंदबाज युजवेंद्र चहल ने भी सिर्फ 12वीं क्लास तक ही पढ़े है.
आपको ये जानकारी कैसे लगी? हमें कमेंट करके जरुर बताये और आप ये भी कहे की जिंदगी में सफ़ल होने के लिए सिर्फ पढाई की ही जरूरत होती है.

  1. 20 गेंदों में शतक लगाने वाला विश्व का एकमात्र बल्लेबाज, नाम जानकर विश्वास नहीं करेंगे आप
  2. टी20 मैच के दौरान 8 रन पर 8 विकेट गवाने वाली एक मात्र टीम - New!

No comments:

Post a comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा