अगर ये 5 गद्दार नही होते तो आज भी भारत सोने की चिड़िया होता - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Thursday, 26 April 2018

अगर ये 5 गद्दार नही होते तो आज भी भारत सोने की चिड़िया होता

एक ऐसा भी समय था जब हमारा देश सोने की चिड़िया के नाम से जाना जाता था, पर अब हमारे देश को हम सोने की चिड़िया के नाम से जानी जान सकते. अंग्रेजो के आने से पहले समय तक हमारा देश सोने की चिड़िया कहलाता था.
जन्म से ही हमारा देश एक कृषि प्रधान देश रहा है, इस देश में कृषि, खनिज जैसे पदार्थ सोने से कम नहीं थे. आज सब कुछ बदल गया है इसका सबसे बड़ा और मुख्य कारण है युद्ध. हमारे देश पर कई बार आकरण हुए है जिसने हमारे देश को कई बार लुटा है.
आज हम आपको भारत देश के सबसे बड़े 5 गद्दार के बारे में बताने जा रहे है जिन्होंने हमारे देश के साथ गद्दारी नहीं की होती तो आज भी हमारा देश सोने की चिड़िया ही कहलाता.
भारत के 5 गद्दार
जयचंद

Third party image reference
जैसे की हम सब जानते है की पृथ्वीराज चौहान देश के महान राजाओं में से एक थे, उनके शासनकाल में मोह्हमद गौरी ने देश पर कई बार आक्रमण किया पर उनको कोई बड़ी कमियाबी हासिल नहीं हुई. दूसरी तरफ कन्नौज के राका जयचंद पृथ्वीराज से अपनी बेइज्जती का बदला लेना चाहते थे, बाद में उसने मोह्हमद के साथ हाथ मिला लिया और बाद में लड़ाई में उनकी मदद भी की इसका परिणाम ये हुआ की 1192 के तराईन की लड़ाई ने मोहम्मद की जित हुई.
मीर जाफर

Third party image reference
क्या आप जानते है मीर जाफर ना होता तो हम कभी अंग्रेजो के गुलाम नहीं बन पाते. 1757 के युद्ध में सिराजुद्दौला को हराने के लिए जाफर ने अंग्रेजो की काफी मदद की थी.
मीर कासिम

Third party image reference
सिराजुद्दौला को हराने के लिए अंग्रेजो ने मीर जाफर का इस्तेमाल किया था बाद में अंग्रेजो ने मीर जाफर को हटाने के लिए मीर कासिम का इस्तेमाल किया, कासिम को राजगद्दी तो मिली पर उनको ये अहसास हो गया की उसने बहुत ही बड़ी गलती की है.
मान सिंह

Third party image reference
जैसे की हम सभी जानते है की महराणा प्रताप ने कभी भी मुगलों की गुलामी को स्वीकार नहीं किया था पर मान सिंह जैसे गद्दार ने पद के लिए खुद को मुगलों के हनथो बेच दिया.
मीर सादिक

Third party image reference
भारत के महान योद्धा टीपू सुलतान के साथ भी यही हुआ था जब कोई अपना ही दुश्मन के साथ मिल जाये तो हमारी हार पक्की ही होती है. मीर सादिक टीपू सुलतान का बेहद की खास मंत्री था और वो एकदिन अंग्रेजो के साथ मिल गया, बाद में इसका परिणाम ये आया की 1779 के युद्ध में टीपू सुलतान को अंग्रेजो ने हरा दिया.
तो ये थे वो 5 गद्दार जिन्होंने अपने दइमान के साथ-साथ अपने देश को भी बेच दिया था, इन्ही 5 लोगो की गलती की सजा हम आज भी भुगत रहे है.
loading...

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा