कुलदेवता की पूजा करते वक्त ध्यान में रखे यह बातें, पड़ सकता है भारी

हमारे हिन्दू धर्म में पूजा, कर्मकांड, कुलदेवी, कुलदेवता की पूजा करने का बड़ा महत्व होता है, ऐसा माना जाता है ही हिन्दू परिवार के लोग किसी न किसी ऋषि के वंशज है इसी के आधार पर उनके गोत्र की जानकारी मिलती है. हमारे धर्म में किसी भी परिवार का कुलदेवी या कुलदेवता जरुर होता है और उनकी पूजा हमारे परिवार के पूर्वजो द्वारा सदियों से करते आ रहे है.

Third party image reference
ऐसा माना जाता है की कुलदेवता ही होता है जो हमारे परिवार पर आने वाली परेशानियों से हमारी रक्षा करते है, इसीलिए हमें कुलदेवता या कुलदेवी की पूजा करते वक्त किसी भी प्रकार की कोई गलती नहीं करनी चाहिए अन्यथा हमें उस की गयी पूजा का फल नहीं मिलता और कुलदेवता नाराज हो जाते है. तो चलिए जानते है कुलदेवी या कुलदेवता की पूजा करते वक्त हमें क्या-क्या सावधानियां रखनी होती है.

Third party image reference
आप किसी आयोजन के लिए अपने कुलदेवता की पूजा करते है तो आप सभी सामग्री जैसे की नारियल, फुल, घी, हल्दी, लाल कपड़ा आदि जरुर साथ में ले लें.
हमारे शास्त्रों में भी ऐसा बताया गया है की कुलदेवी या देवता की पूजा करते वक्त हमें सभी सामग्री को अर्पित करते वक्त उनके उचित स्थान पर ही चढ़ाना चाहिए जैसे की सिंदूर के स्थान पर सिंदूर और घी के स्थान पर घी यहाँ पर हमें पानी या दही कभी भी नहीं चढ़ाना चाहिए.

Third party image reference
जब हम कुलदेवी या कुलदेवता की पूजा कर रहे होते है तो हमें किसी बाहरी व्यक्ति को उसमे सम्मलित नहीं करता चाहिए और ना ही उस प्रसाद की किसी दुसरे व्यक्ति को देना चाहिए.

Third party image reference
हमारे शास्त्रों में ऐसा बताया गया है की जब हम कुलदेवी या देवता की पूजा करते है तो वहा पर हमें किसी भी कुंवारी कन्या को शामिल नहीं करना चाहिए, यदि आप ऐसा करेंगे तो आपको कुलदेवता नाराज हो जायेंगे.
कुलदेवता की पूजा करते वक्त हमें पूजा में मिठाई या हलवापूरी का भोग जरुर लगाना चाहिए, इस्सी हमारे देवी-देवता प्रसन्न होते है और हमें सुख-समृद्धि का आशीर्वाद दे देते है.
Previous article
Next article

Leave Comments

Post a comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी

loading...
loading...
loading...