भारत देश के बारे में कुछ ऐसे झूठ जिन्हें हम आज तक सच मानते है

आज हम आपको कुछ ऐसी जानकारियों के बारे में बताने वाले है जो एकदम झूठी है पर फिर भी लोग इसको एकदम सही और सच्ची मानते है. तो चलिए जानते है कुछ ऐसी जानकारियों के बारे में जो वाकई में झूठी ही है.
आपकी जानकारी के लिए हम आपको बतादे की हिंदी हमारी राष्ट्र भाषा नहीं है, बात कुछ यु है की हमारे देश की कोई भी रास्ट्रीय भाषा नहीं है, हिंदी भाषा को सिर्फ संविधान में राज भाषा में संबोधन करने के लिए इस्तेमाल किया जाता था.

Third party image reference
हमें बचपन से पता है की हमारा रास्ट्रीय खेल होकी है, परन्तु यह बात एकदम झूठ है, RTI के जवाब में खेल मंत्रालय ने बताया था की कोई भी भारत देश का रास्ट्रीय खेल है ही नहीं.

Third party image reference
हमारे स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस के बारे में कुछ लोगो का मानना है की उनकी मौत विमान हादसे में हो गयी थी पर उनके गायब होने के कई सालों बाद रिसर्च में पता नहीं चल पाया की उनकी मौत कैसे हुई थी.
काशी के बारे में माना जाता है की यह दुनिया का सबसे पुराना शहर है पर यह बात पूरी तरह से झूठ है क्यूंकि सच बात तो यह है की काशी दुनिया के सबसे पुराने शहरो में से एक है.

Third party image reference
क्या आपको पता है जब हमारा देश आजाद हुआ था तब देश सेकुलर नहीं था क्यूंकि ऐसा हमारे संविधान के कही पर भी नहीं लिखा था. जब साल 1976 में संविधान का निर्माण हुआ तब सेकुलर यानी की धर्म निरपेक्ष शब्द को हमारे संविधान की प्रस्तावना के साथ जोड़ा गया.
रोजाना ऐसी जानकारी के लिए हमें फोलो जरुर करें

0/Comments = 0 / Comments not= 0

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी

Previous Post Next Post
loading...
loading...
loading...
loading...