पुलिस FIR से जुड़ी कुछ खास बातें, अभी जान ले बाद में पछतायेंगे - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Friday, 15 June 2018

पुलिस FIR से जुड़ी कुछ खास बातें, अभी जान ले बाद में पछतायेंगे

हमारे देश में जब भी कोई अपराध होता है तो उसके बारे में पुलिस के पास एफआईआर लिखी जाती है जिससे अपराध की पुरेपुरी हकीकत प्राप्त की जाती है तो चलिए आज हम आपको एफआईआर से जुडी वो रोचक बातें बताने वाले है जिसके बारे में आपने पहले कभी भी जाना नहीं होंगा.

Third party image reference
सबसे पहले हम आपको एफआईआर का पूरा नाम बता देते है जो की फर्स्ट इंफॉर्मेशन रिपोर्ट कहलाता है. यही कीसी अपराध के बाद में उससे संबंधित प्राथमिकता दर्ज होती है और इसी के आधार पर आगे की पूरी जाँच पुलिस करती है और हां एक महत्वपूर्ण बात की यह एफआईआर किसी भी अपराध का प्रमाण नहीं होता.
एफआईआर दर्ज के नियम

Third party image reference
आप अपनी शिकायत थाने में दर्ज कराने जा रहे है जिससे जुडी सारी बातें पुलिस अधिकारी एफआईआर फॉर्म के अंदर लिखेगा और आपकी शिकायत सुनकर आपकी सहमती ले ली जाएगी और एफआईआर की एक कॉपी पुलिसथाना इंचार्ज शिकायतकर्ता को लेगा.
लिखित रिकार्ड

Third party image reference
जब भी पुलिस आपकी एफआईआर को दर्द करेगी तो वह उसका सभी रिकॉर्ड अपने पास लिखित रूप में रखेगी और इसमें आपको कोई लिखित कोपी नहीं मिली है तो इसका मतलब ये होता है की पुलिस आपकी शिकायत अपने संज्ञान में ले ली है और आगे इसकी जाँच करेगी और ऐसा पता लगाएगी की वास्तव में ऐसा कोई अपराध हुआ है की नहीं.
एफआईआर तुरंत दर्ज कराये

Third party image reference
जब भी आपके साथ में कोई घटना होती है तो आपको पुलिस को इसकी एफआईआर तुरंत ही जाकर दर्ज करनी होती है क्यूंकि एफआईआर देर से दर्ज करने में अपराधी को इसके सबूत को मिटाने के लिए समय मिल जाता है.
एफआईआर क्यों जरुरी है
आपकी जानकारी के लिए बतादे की पुलिस अधिकारी किसी भी अपराध की एफआईआर दर्ज करना अनिवार्य है यदि ऐसा नहीं होता है तो शिकायतकर्ता इसकी शिकायत एसपी से कर सकते है.
रोजाना ऐसी जानकारी के लिए हमें फ़ॉलो जरुर करें.

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा