रामायण से जुडी अनसुनी बातें, हर हिंदू जरुर जाने - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Tuesday, 10 July 2018

रामायण से जुडी अनसुनी बातें, हर हिंदू जरुर जाने

आज हम आपको यहाँ पर रामायण से जुडी कुछ ऐसी बातें बताने वाले है जो आपको रामायण में भी नहीं मिल पायेगी, क्यूंकि यह सब बातें बेहद ही अदभूत और अजीब है. यह सब बातें एकदम सच है पर इसको आपने टीवी में भी नहीं जाना होंगा. तो चलिए जानते है रामायण से जुडी कुछ अनसुनी बातें

Third party image reference
शायद आप यह बात नहीं जानते होंगे की भगवान श्री राम सिर्फ चार भाई ही नहीं थे उनकी एक बहन भी थी और उसका नाम शांता था.
आपको यह बात तो पता होंगी की लंका का असली राजा कुबेर था जो की रावण की सौतली माँ का बेटा था इसीलिए रावण ने लंका उससे चल-कपट से हासिल कर ली थी.

Third party image reference
आप को यह बात जानकार हैरानी होंगी की पुरे 14 सालों के वनवास के दौरान लक्ष्मण बिलकुल भी सोये नहीं थे क्यूंकि यह पुरे समय अपने बड़े भाई भगवान श्री राम और माता सीता की रक्षा के लिए लगे हुए थे.
हम सब यह बात तो जानते ही है की भगवान श्री राम विष्णु के अवतार थे पर आप शायद यह बात नहीं जानते होंगे की लक्ष्मण शेषनाग के अवतार थे.

Third party image reference
भगवान कृष्ण का वध करने वाले जरा नामक शिकारी दरअसल बाली का ही अवतार थे जिन के तीर से भगवान श्री कृष्ण की मृत्यु हुई थी.
हम सब यह बात जानते है की रावण को पुरे 10 सर थे पर यह नहीं जानते की रावण के 10 सर क्यों थे? दर्ह्सल रावण भगवान शिव का बहुत ही बड़ा भक्त था और शिव जी को खुश करने के लिए अपने शारीर को 10 बार काट कर भगवान शिव को चढ़ाया था, तभी से शिव जी ने रावण से खुश हो कर उनको एकसाथ 10 सर दे दिए.

Third party image reference
शायद आप ये बात नहीं जानते होंगे की लक्ष्मण की मृत्यु कैसे हुई? आपकी जानकारी के लिए बतादे की जब यम श्री राम से बात कर रहे थे तब उन्होंने यह शर्त रखी थी की उन दोनों की बातचीत को कोई भी बाधित नहीं करेगा और यदि कोई ऐसा करेगा तो उसको मृत्युदंड दिया जाएगा, उसी समय लक्ष्मण कमरे के अंदर आ गए और सभी बातें सुनली फिर अपने वादे के मुताबिक भगवान राम ने लक्ष्मण को सजा-ए-मौत सुना दी.

Third party image reference
जब रामायण अंतिम चरण में थी तभी भगवान राम ने हनुमान जी को कलयुग में रहकर ही उनके भक्तो की रक्षा करने के लिए कहा था जिसके बाद से आज तक और आगे भी हनुमान जी इस धरती पर ही रहेंगे और हनुमान जी ने जिस पत्थर से रामसेतु का निर्माण किया था उसको आज भी एक सुरक्षित जगह पर रखा गया है.

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा