भारत का एक ऐसा शहर जहा न तो पैसा चलता है और ना ही कोई सरकार - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Thursday, 30 August 2018

भारत का एक ऐसा शहर जहा न तो पैसा चलता है और ना ही कोई सरकार

आज हम भारत के एक ऐसे शहर के बारे में बताने वाले है जहा पर न तो कोई धर्म है, न पैसा और ना ही कोई सरकार. जी हा आप एकदम सही सुन रहे है और आप ऐसा सोच रहे होंगे की भारत में ऐसा कौनसा शहर होंगा, जी हा दोस्तों यह बात एकदम सही है और इस जगह का नाम है ऑरोविले. आपकी जानकारी के लिए बतादे की इस शहर की स्थापना साल 1968 में मीरा अल्फाजों ने की थी.
Third party image reference
इस शहर को सिटी ऑफ़ डॉन मतलब की भोर के नाम से जाना जाता है और यह जगह चेन्नई से 150 किलोमीटर दूर आई है, वैसे आपको बता दे की इस शहर को बसाने का सिर्फ एक ही मकसद था की यहाँ पर लोग जात-पात, ऊंच-नीच और भेदभाव से दूर रह सके.
Third party image reference
इस जगह पर कोई भी इंसान आकर बस सकता है पर इसके लिए भी एक शर्त रखी गयी है, अब आप ये सोच रहे होंगे की ऐसी कौनसी शर्त होगी यहाँ पर रहने के लिए, शर्त ये है की यहाँ पर रहने के लिए आपको एक सेवक के तौर पर रहना होंगा.
Third party image reference
यहाँ पर एक प्रयोगिक टाउनशिप है जो विल्लुप्पुरम डिस्ट्रिक तमिलनाडु में है, जिन्होंने इस शहर की स्थापना की थी वह श्री अरविंदो स्प्रिचुअल रिट्रीट में 29 मार्च 1914 को पुदुच्चेरी आई थी, जब प्रथम विश्वयुद्ध हुआ था तो उसके बाद कुछ समय के लिए वो जापान चली गयी पर बाद में वह साल 1920 में वापिस भारत आ गयी तभी से लोग मीरा अल्फाजों को 'मां' कहकर पुकारने लगे थे.
Third party image reference
वैसे आपकी जानकारी के लिए बतादे की इस शहर में करीब 50 देशों के लोग रहते है और इसकी आबादी की बात करे तो तकरीबन 24000 जितने लोग होंगे. यहाँ पर एक भव्य मंदिर भी बनवाया गया है.
Third party image reference
इस मंदिर में किसी भी देवी-देवताओं की कोई तस्वीर या मूर्ति नहीं है क्यूंकि यह मंदिर धर्म से जुड़े भगवान का है और उसकी ही पूजा की जाती है वैसे यहाँ पर लोग योग करते है.
तो इस जगह पर आपको भी जरुर जाना चाहिए.
रोजाना ऐसी ही जानकारी के लिए हमें फ़ॉलो जरुर करें.

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा