महाभारत के समय में दिए गये ये श्राप, जिसका असर आज भी हो रहा है

हमारे हिन्दू धर्म में महाभारत को सबसे बड़ा रोचक ग्रंथ माना जाता है क्यूंकि इसमें धर्म की रक्षा के लिए भाईयों-भाईयों के बिच में हुए इस युद्ध में कई सारी रोचक कहानियां और किस्से ऐसे है जिससे आज भी लोग अनजान है. आज हम आपको यहाँ पर महाभारत के समय में होने वाले कुछ ऐसी घटनाओं के बारे में बताने वाले है जिसका असर आज भी इस धरती पर देखा जा सकता है.

Third party image reference
पृथ्वी पर कलयुग का आगमन
जब पांडवो स्वर्गलोक की ओर प्रस्थान करने लगे और उन्होंने अपना सभी राज्य अभिमन्यु के पुत्र परीक्षित के हाथो में सौंप दिया, जब राजा परिक्षित शमीक ऋषि के गले में मरा हुआ सांप डाल दिया अब ऋषि शमीक के पुत्र श्रृंगी को पता चली तो उन्होंने राजा परीक्षित को श्राप दिया की आज से करीब सात दिन बाद राजा परीक्षित की मृत्यु तक्षक नाग के डसने से होगी. जब राजा परीक्षित जीवित थे तब कलियुग का इतना साहस नहीं था की वो इस धरती पर हावी हो सके पर उनके मृत्यु के पश्चात ही कलयुग पूरी पृथ्वी पर हावी हो गया.
युधिष्ठिर ने दिया था सभी स्त्रियों को यह श्राप

Third party image reference
जब महाभारत का युद्ध समाप्त हुआ था तब माता कुंता के पांडवों के पास जाकर उनको कर्ण के बारे में सब कुछ बता दिया था और कहा था की वह उनका भाई था, अब सभी पांडव इस बात को सुनकर निराश हो गये तभी युधिष्ठिर ने विधि-विधान से कर्ण का अंतिम संस्कार कर दिया और माता कुंती के पास जाकर उसी क्षण उन्होंने समस्त स्त्री जाति को यह श्राप दे डाला की आज अभी से कोई भी स्त्री किसी भी प्रकार की गोपनीय बात का रहस्य नहीं छुपा पाएगी.
अश्वत्थामा पृथ्वी पर भटकता रहेगा

Third party image reference
जब महाभारत के युद्ध में अपने अस्त्र की दिशा बदलकर अभिमन्यु की पत्नी उत्तरा के गर्भ की ओर कर दी थी अश्वत्थामा ने तब श्रीकृष्ण ने अश्वत्थामा को श्राप दिया दे दिया की आज से तुम तीन हजार वर्ष तक इस पृथ्वी पर भटकते रहोगे और किसी पुरुष के साथ तुम्हारी बातचीत नहीं हो सकेगी.
तो यह तिन घटना थी जो आज भी इस धरती पर अपना असर कर रही है.
रोजाना ऐसी ही जानकारी के लिए हमें फ़ॉलो जरुर करें.
Previous article
Next article

Leave Comments

Post a comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी

loading...
loading...
loading...