भीष्म ने रोज 10000 लोगों को मारने का वचन लिया था, जाने रोचक जानकारी - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Wednesday, 21 November 2018

भीष्म ने रोज 10000 लोगों को मारने का वचन लिया था, जाने रोचक जानकारी

वैसे आप सभी लोग भीष्म पितामह को तो जरुर जानते होंगे पर क्या कोई रोज 10 हजार आदमी मार सकता हैं, जी हां आज हम भीष्म पितामह की यही बात आपको बताने जा रहे हैं. भीष्म पितामह युद्ध नहीं करना चाहते थे मगर वह वचनबंद होने के कारण पांडवों का साथ नहीं दे पाए थे और कौरवों की तरफ से उनको लड़ना पड़ा था.

Third party image reference
वैसे दुर्योधन यह बात जानता था कि भीष्म पितामह अकेले ही कौरव सेना को मौत के घाट उतार सकते हैं मगर भीष्म पितामह पहले ही कह चुके थे की मैं अपनी प्रतिज्ञा के कारण तुम्हारा साथ दे रहा हूं और मैं तुम्हारी तरफ से लड़ूंगा मगर मैं पांडव पुत्रों में से एक को भी नहीं मारूंगा.

Third party image reference
दुर्योधन यह बात सुनकर काफी निराश हो गया और ऐसे निराश देखकर भीष्म जी ने दुर्योधन को वचन दिया कि वह रोज अपने पराक्रम और शक्ति से पांडवों की सेना के 10000 योद्धाओं को मार गिराएंगे, यह सुनकर दुर्योधन को संतुष्टि मिली और सोचने लगा पांच पांडव को तो कोई और भी खत्म कर सकता है मगर उसकी सेना को सिर्फ भीष्म पितामह अकेले ही ख़त्म कर देंगे.

Third party image reference
जब भी भीष्म पितामह युद्ध करने जाते तो युद्ध में अपना वचन पूरा कर देते, वह रोज 10000 सैनिक मारने लगे यह देखकर पांडवों की सेना में खलबली मच गई और पांचो पांडव भाई तथा कृष्ण भी चकित रह गए और सोच में पड़ गए.

Third party image reference
अब ऐसा ही 7-8 दिनों तक चलता रहा और अगली सुबह श्री कृष्ण ने अर्जुन को महामहिम भीष्म से युद्ध करने को कहा, वह दोनों भीष्म जी के आगे चले गए ताकि वह 10000 लोगों को ना मार पाए. पितामह भीष्म अर्जुन से युद्ध करते रहे मगर अपने वचन को याद रखते हुए शाम तक उन्होंने 10000 योद्धा मार गिराए.

Third party image reference
पांडव सेना ने तरकीब लगाई थी कि अगर वह पितामाह भीष्म को व्यस्थ रखेगे या फिर उनका ध्यान हटा कर रखेंगे तो वह अपने 10 हजार योद्धा को मरने से बचा लेंगे, मगर भीष्म तो परशुराम के शिष्य थे और वह अपनी प्रतिज्ञा कैसे भूल सकते थे.
रोजाना ऐसी ही अटपटी ख़बरों के लिए हमें फ़ॉलो जरुर करें.

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा