‘इस फिल्म के सारे पात्र काल्पनिक है’ ऐसा फिल्म शुरू होने से पहले क्यों आता है - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Friday, 2 November 2018

‘इस फिल्म के सारे पात्र काल्पनिक है’ ऐसा फिल्म शुरू होने से पहले क्यों आता है

जैसे की हम सब जानते है की किसी भी फिल्म चालू होने से 'ये फ़िल्म काल्पनिक घटनाओं पर आधारित है और इसका जीवित और मृत किसी भी शख़्स से कोई संबंध नहीं है, अगर किसी की कहानी इससे मिलती है, तो वो बस एक संयोग मात्र है'. ऐसा लिख कर आता है पर क्या आप जानते भी है की इसका क्या मतलब होता है, यदि नहीं तो चलिए जानते है.

Third party image reference
आपने कभी ऐसा सोचा भी नहीं होगा की ऐसा क्यों लिखके आता है क्यूंकि इसके पीछे बहुत बड़ा कारण है, तो चलिए आगे जानते है क्या है वो कारण.
आपको बतादें की 18वीं सदी में सभी लोग रास्पुतिन के आज्ञाकारी हुआ करते थे ऐसे में लोग इनको उनकी अच्छाई की वजह से नहीं बल्कि बुराई की वजह से जानते है, वैसे आपको बतादें की रास्पुतिन को लेकर कई कहानियां मशहूर है क्यूंकि वो एक शाही परिवार के मार्गदर्शक के रूप में काम करते थे.

Third party image reference
लोगो को वश में कैसे करते है उसके बारे में उनको पता था इसीलिए उन्होंने ने एक शाही परिवार को अपने वश में कर लिया था पर बाद में एक ऐसा समय भी आया की वो अचानक से साधू बन गया.
वह साधू तो बना था पर किसी की भी सुनता नहीं था ऐसे में लोग इनको पागल भिक्षु कह कर पुकारते थे, बाद में एक समय ऐसा भी आया की जो लोग उनको पागल बोलते थे वो लोग ही उसकी बातों पर यकीन करने लगे और भगवान की तरह विश्वास करने लगे.

Third party image reference
जब ये बात रूस की रानी एलेक्ज़ेंड्रा तक पहुंची तो उन्होंने रास्पुतिन को बुलाया, क्योंकि रानी का बेटा काफी बीमार रहता था और रास्पुतिन ने उसे बिल्कुल स्वस्थ कर दिया बाद में इस चमत्कार को देखके रानी का पूरा परिवार उसका आभारी बन गया.

Third party image reference
पर रास्पुतिन इतना अच्छा और सच्चा नहीं था और उसने रानी एलेक्ज़ेंड्रा के साथ भी संबध बनाए थे, बाद में सब कुछ रास्पुतिन से पूछ कर ही होने लगा यानि की रास्पुतिन जो बोलता वही सब लोग करते ऐसे में उसकी सलाह के बाद भी लगातार रूस जंग हारने लगा, जिसके कारण शाही परिवार ने ही रास्पुतिन की हत्या करवा दी.

Third party image reference
अब आप यह सब जानकार यह सोच रहे होंगे की इस पूरी कहानी का फ़िल्मों में जानकारी देने से क्या लेना-देना है पर आपको बतादें की रास्पुतिन की ज़िंदगी इतनी ख़तरनाक थी कि इस पर फिल्म बनाने का फैसला लिया गया और जब फिल्म बनने के बाद रिलीज हुई तब उस पर ग़लत कहानी दिखाने का केस दाखिल हुआ.

Third party image reference
इस फिल्म में रास्पुतिन द्वारा रानी एलेक्ज़ेंड्रा का रेप करते दिखाया गया, जिस पर आईरिन ने एतराज़ जताया और कहानी को ग़लत बताया तब कोर्ट ने ऐसा करने पर फ़िल्म बनाने वाले प्रोडक्शन हाऊस MGM पर जुर्माना लगाया और फिल्म पर भी रोक लगाई.

Third party image reference
अब इस प्रोडक्शन हाउस को भारी नुकसान हुआ और इसके बाद फिल्म इंडस्ट्री को सीख मिली और फिल्म में ये जानकारी का उपयोग होने लगा क्योंकि कोई फिल्म में निभाए जानें वाले किरदार का विरोध ना कर सके.
तो अब आप समज गये होंगे की फिल्मे चालू होने से पहले ऐसा क्यों दिखाया जाता है की इस फिल्म के सभी पत्र काल्पनिक है.
रोजाना ऐसी ही अटपटी ख़बरों के लिए हमें फ़ॉलो जरुर करें.

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा