भगवान गौतम बुद्ध की जयंती पर जानिए कुछ बेहद ही रोचक बातें - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Friday, 17 May 2019

भगवान गौतम बुद्ध की जयंती पर जानिए कुछ बेहद ही रोचक बातें

जैसे की हम सब जानते है की वैशाख पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा भी कहते हैं और यह भगवान गौतम बुद्ध की जयंती भी है साथ ही यह दिन उनका निर्वाण दिन भी कहा जाता है. आपको पता ना हो तो बतादें की इसी दिन ही भगवान बुद्ध को बुद्धत्व की प्राप्ति हुई थी.

Third party image reference
आपको एक और महत्त्व की बात बतादें की इस दुनिया में बौद्ध धर्म को मानने वाले विश्व में 50 करोड़ से अधिक लोग है और वो और वो इस दिन का बड़ी ही बेसब्री से इंतजार कर रहे होते है और बड़े ही धूम-धाम से इस दिन को मनाते है.

Third party image reference
शायद आपको पता ना हो तो बतादें की हिन्दू धर्मावलंबियों के लिए बुद्ध विष्णु के नौवें अवतार हैं, इसीलिए यह दिन हिन्दुओं के लिए भी बेहद ही खास और पवित्र माना जाता है.

Third party image reference
बिहार स्थित बोधगया नामक स्थान हिन्दू व बौद्ध धर्मावलंबियों के पवित्र तीर्थ स्थान हैं, यहाँ पर गृह त्याग के बाद सिद्धार्थ सात वर्षों तक वन में भटकते रहे थे, बाद में उन्होंने कठोर तपश्या की और वैशाख पूर्णिमा के दिन बोधगया में बोधि वृक्ष के नीचे उन्हें बुद्धत्व ज्ञान की प्राप्ति हुई, तभी से लेकर आज तक यह दिन बुद्ध पूर्णिमा के रूप में जाना जाता है.

Third party image reference
तो चलिए आगे जानते है की दुनिया के सभी अलग अलग देशों में वहां के रीति-रिवाजों और संस्कृति के अनुसार समारोह आयोजित कैसे होते है और उनसे जुडी कुछ बातें जो आपको जाननी बेहद ही जरुरी है.
बुद्ध पूर्णिमा पर यह 10 बातें जो आपको जरुर जाननी चाहिए
  1. इस दिन सभी अच्छे किये हुए कार्यो से पुण्य की प्राप्ति होती है.
  2. इसी दिन बौद्ध धर्म के धर्मग्रंथों का निरंतर पाठ लोग करते है.
  3. इस दिन गरीबों को लोग भोजन व वस्त्र करते है.
  4. इसी दिन पक्षियों को पिंजरे से मुक्त कर के खुले आकाश में हमेशा के लिए आजाद कर दिया जाता है.
  5. शायद आपको पता ना हो तो बतादें की श्रीलंकाई इस दिन को 'वेसाक' उत्सव के रूप में मनाते हैं जो 'वैशाख' शब्द का अपभ्रंश है.
  6. बतादें की इस दिन बौद्ध घरों में दीपक जलाए जाते हैं और फूलों से घरों को सजाया जाता है.
  7. बुद्ध पूर्णिमा के दिन पूरी दुनिया से लोग बोधगया आते हैं और प्रार्थनाएं करते हैं.
  8. आज ही के दिन दिल्ली संग्रहालय इस दिन बुद्ध की अस्थियों को बाहर निकालता है जिससे कि बौद्ध धर्मावलंबी वहां आकर प्रार्थना कर सकें और उनके दर्शन कर सके.
  9. इसी दिन सभी मंदिरों और घरों में घरों में अगरबत्ती लगाई जाती है और मूर्ति पर फल-फूल चढ़ाए जाते हैं.
  10. इसी दिन से लोग मांसाहार से परहेज करते है क्यूंकि बुद्ध पशु हिंसा के कट्टर विरोधी थे.
तो कैसी लगी आपको हमारी यह जानकारी? हमें कमेंट करके जरुर बताएं.
रोजाना ऐसी ही जानकारी के लिए हमें फोलो करना बिलकुल ना भूलें.

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा

इसे भी जरुर पढ़े :