मोबाइल नंबर 10 अंकों के ही क्यों होते हैं

दोस्तों जैसे की हम सब जानते है की तकनीकी और उपयोगक कारणों से दुनिया में वर्तमान में मोबाइल नंबर 10 से 11 अंकों से भिन्न होते हैं, तकनीकी कारणों से, ब्रिटेन और चीन में मोबाइल फोन नंबर अब 11 अंकों तक चले गए हैं.

Third party image reference
आपको बतादें की हमारे देश भारत में सभी मोबाइल नंबरों में सरकार की राष्ट्रीय नंबरिंग योजना (एनएनपी) के तहत 10 अंक हैं, मोबाइल फोन नंबर में अंकों की संख्या देश के कोड को लगाए बिना अधिकतम मोबाइल फोन का वर्णन करती है, जो 91 (भारत के लिए) है.
अब आगे क्या होगा?

बतादें की साल 2003 तक हमारे पास 9 अंकों का सेल नंबर था, जिससे अधिकतम संख्या में सेल संख्या 109 थी, यानी अधिकतम 1000 मिलियन या 100 करोड़ ग्राहक, लेकिन अब हमारी आबादी 125 करोड़ के करीब है तो जाहिर सी बात है की हमारे पास 9 अंकों का सेल फोन नंबर नहीं हो सकता.
जिसके बाद 10 अंको वही प्रणाली को लागू किया गया, 10 अंकों वाले सेल नंबर को अपनाने की क्षमता 10 अरब या 1000 करोड़ हैं यानी 10 अंक के नंबर 1000 करोड़ ग्राहकों की क्षमता प्रदान करती है जिससे हमारे कुल जनसंख्या को मोबाइल नंबर प्राप्त हो सके और और साथ कि इसकी कमी भी न हो.
हालांकि अभी 11 अंको के नंबर आने में समय हैं लेकिन यह काम बहुत जल्द होने वाला हैं और इसको लेकर सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी गई हैं इसके साथ ही आपको कुछ वर्षों के अंदर ही 11 अंको के फ़ोन नंबर देखने को मिल जाएंगे.

तो दोस्तों, क्या आप भी इंतजार कर रहे है 11 अंको वाले मोबाइल नंबर का, हमें कमेंट करके जरुर बताये.

रोजाना ऐसी ही अटपटी ख़बरों के लिए हमें फ़ॉलो जरुर करें.


Previous article
Next article

Leave Comments

Post a comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा

loading...
loading...
loading...