क्या लक्ष्मण द्वारा शूर्पणखा की नाक काटना उचित था ?

क्या लक्ष्मण द्वारा शूर्पणखा की नाक काटना उचित था, इस सवाल का जवाब जानने से पहले यह जान लेते है की लक्ष्मण जी ने ऐसा किया क्यों?
हम सभी ने धारावाहिक रामायण में देखा है की शूर्पणखा पंचवटी में विराजमान प्रभु राम और लक्ष्मण के सौंदर्य पर मोहित होती है और उनसे गंधर्व विवाह का प्रस्ताव रखती है, इस बात से नाराज होकर लक्ष्मण ने शूर्पणखा की नाक काट दी.



वैसे तो इनमें के इस खंड के आपको हज़ारों विश्लेषण मिल जाएंगे, पर समय काल और परिस्थितियों के अनुरूप सबने अलग अलग ढंग से व्याख्या की है, पर इस बारे में आज के संदर्भ में यदि इस सजा विश्लेषण किया जाए तो यह कृत्य सर्वथा उचित प्रतीत होता है.
शूर्पणखा की नाक इसीलिए नहीं काटी थी कि उसने भगवान् से विवाह का प्रस्ताव रखा था, बल्कि इसीलिए काटी थी क्योंकि उस नरभक्षिणी राक्षसी ने माँ सीताके प्राण लेने चाहे थे, भगवान् श्रीराम ने तो उससे हंसकर ही बातकी थी, एकपत्नीव्रती होने के कारण उसे लक्ष्मण के पास भेजा था, लक्ष्मणजीने भी उससे विवाह करने से मना कर दिया तब शूपर्णखाने माँ सीताको अपने मार्ग में बाधा समझकर बोली -
“अद्येमां भक्षयिष्यामि पश्यतस्तव मानुषीम् !
त्वया सह चरिष्यामि निःसपत्ना यथासुखम् !!
(वाल्मीकिरामायण अरण्यकाण्ड १८/१६)
इसका अर्थ यह होता है की "आज तुम्हारे देखते ही मैं इस मानुषी सीता को खा जाऊँगी और इस सौत के न रहने पर तुम्हारे साथ सुख पूर्वक विचरण करूंगी.”
 आपको बतादें की उस दुष्टनरभक्षिणी राक्षसी ने माँ सीता पर आक्रमण कर दिया, अपनी भाभी माँ की रक्षा के लिये औऱ उस बहरूपिया राक्षसी के दुःसाहस के लिए ही लक्ष्मण ने उसकी नाक काट दी ताकि वह कभी दोबारा किसी के विवाहित जीवन पर कुदृष्टि न डाल सके और अन्य लोगों को उसे देख कर इस प्रकार के कृत्य से दूर रहने की भी सीख मिलती है.
तो अब आप ही सोचिए-
क्या स्वयं पर और स्वयं के पत्नी-परिवार पर आक्रमण करने वाले शत्रु को पारितोषक दिया जाएगा ?
जब स्वयं के पत्नी-पुत्रों और परिवार के प्राण संकट में हो तब हम दया नहीं करते और भगवान् श्रीराम ने फिर भी ऐसी राक्षसी के प्राण नहीं लिये केवल अपमानित करके ही छोड़ दिया.
वैसे आपका क्या कहना है इस बारे में, हमे कमेंट करके जरुर बताये.
रोजाना ऐसी ही अटपटी ख़बरों के लिए हमें फ़ॉलो जरुर करें.

0/Comments = 0 / Comments not= 0

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी

Previous Post Next Post
loading...
loading...
loading...
loading...