मानव शरीर का कौन सा अंग अंधेरा होते ही बड़ा हो जाता है - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Friday, 23 August 2019

मानव शरीर का कौन सा अंग अंधेरा होते ही बड़ा हो जाता है

आज हम आपको मानव के एक ऐसे अंग की बात करने वाले है जो दिन (उजाले) में छोटा होता और रात (अंधेरे) में बड़ा हो जाता है, तो चलिए जानते है कौनसा है वो अंग.
बतादें की वो आँख की किकी (रेटिना) है जो दिन के प्रकाश में छोटी होती है और रात को जब प्रकाश की कमी महसूस होती है तो तब वो फोकस करने के लिए बड़ी हो जाती है.

Third party image reference
यदि आप इस सवाल को गलत तरह से सोचते है तो आप अपनी विचारधारा बदले और सवाल शान्ति से पढ़े, मानव अंग कहा है, पुरुषों का अंग नही, क्योकि मानव अंग है तो वो स्त्री और पुरुष में होता है न कि अकेले पुरूष में.
और ऐसे काम करने वाला मानव अंग एक ही है जो इतनी जल्दी छोटा बड़ा हो सकता है.
दोस्तों अगर आप ने गौर किया होगा कि आप की आँखों को ढलते दिन में ज्यादा तकलीफ होती है क्योंकि अगले 10–12 घंटे से आँख प्रकाश में देखने के लिए सेट हुई होती है और जैसे रात होती है तो वह वैसे सेट होती है पर जो दिन ढलने का समय होता है उस वक्त न ज्यादा न कम प्रकाश होता है इस लिए उस वक्त ज्यादा तकलीफ होती है.

उम्मीद करता हु की आपको कुछ नया जानने को मिला होगा.

रोजाना ऐसी ही अटपटी जानकारी के लिए हमें फ़ॉलो जरुर करें.


No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा