मोबाइल फोन से निकलने वाले रेडिएशन से क्या ख़तरा है?

आपको बतादे की हम जब भी रेडिएशन का नाम सुनते है तो उसको सीधा कैंसर के साथ जोड़ देते हैं। जो कि बिल्कुल गलत बात है।
दोस्तो यदि सभी तरह की रेडिएशन से कैंसर होता तो सभी कैंसर के मरीज होते क्योंकि सूर्य प्रकाश भी एक प्रकार की रेडिएशन हैं। आप एक केला खाते हो उसमे भी रेडिएशन होती है। टीवी , एफएम रेडियो, माइक्रोवेव, रिमोट, बल्ब आदि से रेडिएशन निकलती है।

Third party image reference
आपको बतादे की रेडिएशन 2 प्रकार की होती हैं -
1. आयनीकरण रेडिएशन।
2. गैर आयनीकरण रेडिएशन।
इसमें आयनीकरण रेडिएशन की ऊर्जा, गैर आयनीकरण रेडिएशन से ज्यादा होती है, अधिकांश मामलों में कैंसर का कारण ये आयनीकरण रेडिएशन ही होती हैं।

Third party image reference
मोबाईल फोन से निकलने वाली रेडिएशन, गैर आयनीकरण रेडिएशन के अन्तर्गत आती हैं, बतादे की मोबाइल रेडियेशन की ऊर्जा दृश्य प्रकाश से भी कम होती है, यदि मोबाईल रेडिएशन से कैंसर होता तो हम जिस प्रकाश में देखते है उस प्रकाश की ऊर्जा ही मोबाईल रेडिएशन से ज्यादा है।

Third party image reference
अब बात करे मोबाईल फोन से निकलने वाली रेडिएशन की ऊर्जा की तो वह काफी कम होती है, या आप कह सकते है कि हमारा शरीर इससे भी काफी अधिक मात्रा व ऊर्जा की रेडिएशन को सहने में सक्षम होता है।
बतादे की मोबाइल फोन के प्रयोग को लेकर विभिन्न देशों में शोध हुए, और लगभग सभी शोधों में कैंसर या ब्रेन ट्यूमर का कारण मोबाईल रेडिएशन को नहीं माना गया। 
तो कैसी लगी आपको यह जानकारी, हमे कंमेंट करके जरूर बताएं।
रोजाना ऐसी ही अटपटी ख़बरों के लिए हमे फॉलो जरूर करें।
Previous article
Next article

Leave Comments

Post a comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी

loading...
loading...
loading...