विश्व के इन देशों में ट्रैफिक नियम से सबसे सख्त - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Monday, 23 September 2019

विश्व के इन देशों में ट्रैफिक नियम से सबसे सख्त

सबसे पहले तो आपको यह बतादे की हमारे देश भारत से भी सख्त हैं इन देशों में Traffic Rules, जुर्माना भरने के लिए लेना पड़ता है लोन तो चलिए जानते है आगे।
दोस्तो आपको बतादे की कई ऐसे देश हैं, जिनका यहां ट्रैफिक चालान का जुर्माना भारत से कई गुना ज्यादा है। भारत से बहुत छोटे और आर्थिक रूप से पिछड़े देश भी सख्त यातायात नियमों के मामले में हमसें कहीं आगे हैं। तो यहां भारी जुर्माने के साथ सजा का भी प्रावधान है तो कई जगहों पर लोगों को जुर्माना भरने के लिए लोन तक लेना पड़ जाता है या वह अपने क्रेडिट कार्ड आदि से भारी जुर्माने का भुगतान करते हैं।
आपको बतादें की यहां यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर जुर्माना एक महीने की तनख्वाह से भी काफी ज्यादा होता है। तो आइये जानते हैं सख्त यातायात नियमों वाले कुछ देश और उनके भारी जुर्मानों के बारे में।
अमेरिका

Third party image reference
सबसे पहले बात करे अमेरिका में ट्रैफिक नियम के बारे में तो यह इतने सख्त हैं कि यहां वाहन चालकों को उन साइन बोर्ड्स का भी सख्ती से पालन करना पड़ता है, जिनको भारत में नजरअंदाज कर दिया जाता है। अमेरिका में अगर सड़क पर रुकने का साइन बोर्ड लगा है तो वाहन चालक को रुकना अनिवार्य है, भले सड़क पूरी खाली हो। वाहन चालक को रुक कर सड़क के दोनों तरफ देखना होगा और इसके बाद ही वह आगे बढ़ सकता है। अगर वहां पर रेड लाइट लगी है तो सड़क पूरी खाली होने के बावजूद वाहन चालक को हरी बत्ती होने का इंतजार करना जरूरी है।
अमेरिका में जुर्माना
बिना सीट बेल्ट - 25 डॉलर (करीब 18000 रुपये)
बिना लाइसेंस - 1000 डॉलर (करबी 72,000 रुपये)
बिना हेलमेट - 300 डॉलर (करीब 22,000 रुपये)
नशे में ड्राइविंग - तीन महीने के लिए लाइसेंस निरस्त व जुर्माना
ड्राइविंग के दौरान फोन का इस्तेमाल - 10 हजार डॉलर (7.23 लाख रुपये)
सिंगापुर

Third party image reference
अब आगे बात करे तो अमेरिका की तरह सिंगापुर में भी ट्रैफिक नियम इतने सख्त हैं कि वाहन चालक खुद सभी सिग्नल और रोड मार्किंग का पालन करते हैं। भारत की तरह सिंगापुर में वाहन चालकों को जेब्रा क्रॉसिंग और ट्रैफिक लाइट्स का पालन कराने के लिए जगह-जगह पुलिस खड़ी नहीं रहती है।
सिंगापुर में जुर्माना
बिना सीट बेल्ट - 8000 रुपये
बिना लाइसेंस - 3 लाख रुपये
नशे में ड्राइविंग - 5000 डॉलर (करीब 3.59 लाख रुपये) व 3 माह जेल, दूसरी बार 7 लाख का जुर्माना
ड्राइविंग के दौरान फोन का इस्तेमाल - 1000 डॉलर (72,000 रुपये) या 6 माह की सजा
रूस - बात करे रुस की तो यहां यातायात नियमों का पालन करना ही पर्याप्त नहीं है। आपको अपनी गाड़ी भी साफ और सुंदर रखना जरूरी है। गाड़ी गंदी होने पर भी यहां 3000 रूबल (करीब 3240 रुपये) का चालान कट जाता है। खतरनाक तरीके से वाहन चलाना (रैश ड्राइविंग) यहां गंभीर अपराध की श्रेणी में लिया जाता है। गाड़ी में बैठे प्रत्येक व्यक्ति को सीट बेल्ट लगाना अनिवार्य है। नशे में गाड़ी चलाने पर 50 हजार रूबस (लगभग 54000 रुपये) का चालान होता है। साथ ही तीन साल तक के लिए ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त कर दिया जाता है, तो हेना ये बहोत बड़ी बात।
ताइवान - बात करे ताइवान की तो यह देश भारत से काफी छोटा देश है और ये देश भी लगभग हर मामले में भारत से पीछे है। ताइवान, कभी चीन का हिस्सा हुआ करता था। यहां नशे में गाड़ी चलाने पर 4 लाख रुपये तक का जुर्माना वसूला जाता है।
फिनलैंड - बात करे फिनलैंड की तो यहां पर चालान की राशि अलग-अलग है। ये ट्रैफिक निमय का उल्लंघन करने वाले शख्स की आर्थिक स्थिति के अनुसार उसका जुर्माना तय किया जाता है। मतलब जो जितना ज्यादा कमाता है, उसका उतना ज्यादा चालान होता है। इनकम के आधार पर चालान करने वाला फिनलैंड संभवतः दुनिया का एकमात्र देश है और हमारे देश मे भी ऐसा होना चाहिए।

Third party image reference
ओमान - बात करे यह अफ्रीकी देश ओमान की तो उनकी गिनती पिछड़े देशों में होती है फिर भी यहां की अर्थव्यवस्था तेल पर ही टिकी हुई है। बावजूद यहां यातायात नियम बहुत सख्त हैं। यहां फोन पर बात करते हुए वाहन चलाने पर लगभग 50 हजार रुपये का चालान भरना पड़ता है।
जापान - बतादें की यहां सड़क पर पैदल चलने वाले लोगों का खास ख्याल रखा जाता है। यहां कोई वाहन चालक अगर पैदल चलने वाले व्यक्ति पर कीचड़ या पानी उछालता है तो उसका भी भारी जुर्माने के साथ चालान कट जाता है। लिहाजा यहां सड़क पर पानी या कीचड़ होने की स्थिति में वाहन चालकों को बहुत सावधानी से और कम रफ्तार में चलना होता है, यह नियम हमारे देश भारत मे भी होना चाहिए।
संयुक्त अरब अमीरात (UAE) - बात करे अरब देश की तो यह देश अपने सख्त नियमों के लिए हमेशा चर्चा में रहते हैं। यूएई में नशे में गाड़ी चलाने वालों कोड़ों से पीटने की दर्दनाक सजा तक दी जाती है। इसलिए यहां यातायात नियमों के उल्लंघन के मामले न के बराबर ही होते हैं।
हॉलैंड - आपको बतादें की यहां लोग भूलकर भी ओवर स्पीड या सड़क पर गाड़ी से रेस लगाने जैसी गलती नहीं सकते हैं। यहां निर्धारित गति सीमा का उल्लंघन करने पर गाड़ी हमेशा के लिए जब्त कर ली जाती है, क्या ऐसा कानून हमारे देश में संभव है? ।

आपको इन सभी में से ऐसा कौनसा कानून है जो हमारे देश मे लागू करना चाहिए, हमे कमेंट करके जरूर बताये।

रोजाना ऐसी ही अटपटी ख़बरों के लिए हमे फॉलो जरूर करें।

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा