कुछ ऐसी चीज जो आपको पता होनी चाहिए, इससे एक दिन आपकी जान बच सकती है

सबसे पहले तो आपको बतादें की आपका ब्लड ग्रुप (Rh फैक्टर सहित) - जो आपको पता भी होना चाहिए और आपके पास कार्ड या वॉलेट में लिखा हुआ भी होना चाहिए क्योंकि अगर किसी दुर्भाग्य वश आप दुर्घटना के शिकार हो गए या अचानक आपकी तबियत खराब हो जाये तो आप इस हालत में नहीं होंगे कि आप बात भी कर सकें ।

Third party image reference
ब्लड ग्रुप बताना तो दूर की बात है। अधिकाँश लोगों का Rh फैक्टर पॉजिटिव होता है। काफी कम % लोगों का Rh फैक्टर नेगेटिव होता है -ऐसे लोगों को हो सकता है समय से डोनर ही न मिले तो नेगेटिव Rh फैक्टर वाले लोगों को डोनर भी मोबाइल नंबर सहित पता होना चाहिए। ब्लड ग्रुप पता नहीं होने से इसे पता करने में अनावश्यक समय बर्बाद होगा, साथ ही बहुत से हॉस्पिटल में रात में लैब खुला हुआ भी नहीं रहता है, तो यह बात को अच्छे से जान लेना चाहिए।
ड्रग/दवा से एलर्जी/रिएक्शन:

Third party image reference
कुछ लोगों को किसी खास दवा से एलर्जी होती है, ऐसा सभी के साथ होता है ऐसे में यह आपको पता नहीं है तो लेने के देने पड़ सकते हैं। खासकर पेनिसिलिन और अन्य एन्टी बायॉटिक्स के प्रति, अच्छे डॉक्टर या नर्स हमेशा इनका थोड़ा सा इंजेक्शन दे कर थोड़ी देर रुक कर त्वचा पर rash इत्यादि देखते हैं जो रिएक्शन के कारण होता है। यह त्वचा जाँच (skin test) कहलाती है जो पेनिसिलिन, कतिपय एन्टी बायोटिक , muscle relaxant और कैंसर दवा में कारगार रहती है ।
इसके अतिरिक्त, ये दो तरीके भी होते हैं।
Patch जाँच और ब्लड जाँच
आपको बतादें की patch टेस्ट में 2–4 दिन भी लग सकते हैं सो उतने दिनों तक प्रभावी दवा नहीं दी जा सकती है जो जानलेवा भी हो सकता है। अतः ड्रग/दवा से एलर्जी/रिएक्शन की जानकारी अवश्य होनी चाहिए और आपको इस बात का जरूर ध्यान रखना चाहिए।
आग बुझाने और बच निकलने के उपाय :

Third party image reference
दोस्तो यदि किसी भी बड़ी बिल्डिंग में प्रवेश के समय इमरजेंसी एग्जिट प्लान (Emergency Exit Plan) अवश्य देख लेना चाहिए, खासकर सिनेमाघरों, मॉल , अस्पतालों इत्यादि में । आग के वक़्त कभी भी लिफ्ट का प्रयोग न करें - बिजली/जेनेरेटर फेल हो जाने पर आप trap हो जाएंगे साथ ही धुआँ लिफ्ट में भर सकता है। हमेशा सीढ़ियों का प्रयोग जरूरकरें ।
अग्निशामक यंत्र प्रयोग करना भी सीखना चाहिए, भांति भांति के यंत्र होते हैं पर सबसे सामान्य DCP टाइप अग्निशामक यंत्र है । इसका प्रयोग बिजली से लगी आग में भी हो सकता है।
आपको बतादे की यदि घर में बिजली की आग लग जाती है तो भूल के भी पानी नहीं डालें, ऐसा करना जानलेवा हो सकता है। सर्वप्रथम मेन स्विच ऑफ करें और DCP टाइप अग्निशामक यंत्र का प्रयोग करें। यदि DCP टाइप अग्निशामक यंत्र नहीं है तो सूखे बालू या सूखी मिट्टी का भी प्रयोग छिड़काव द्वारा कर सकते हैं ।
तो दोस्तो कैसी लगी आपको यह जानकारी, हमे कंमेंट करके जरूर बताएं।
रोजाना ऐसी ही खबरों के लिए हमे फ़ॉलो जरूर करें।
Previous article
Next article

Leave Comments

Post a comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी

loading...
loading...
loading...