इस तरह 45 बैंकों से हैकर्स ने एक करोड़ रुपये उड़ाए

दोस्तों आपको बतादें की अगरतला में साइबर अपराध का एक बड़ा मामला सामने आया है। आपको बतादें की यहां संदिग्ध तुर्की हैकर्स ने 45 अलग-अलग बैंक खातों से लगभग 1 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की है। इस बारे में ऐसा भी बताया जा रहा है कि हैकर्स ने एसबीआई एटीएम कार्ड के क्लोन के जरिए यह करोड़ों की ठगी की है।

Third party image reference
आपको बतादें की धोखाधड़ी के इस मामले ने साइबर क्राइम की नींद उड़ा दी है। साइबर क्राइम टीन ने अगरतला में सभी बैंक के कस्टमर्स को अलर्ट जारी करते हुए सावधानी बरतने की अपील की है।
अब त्रिपुरा पुलिस की साइबर अपराध शाखा की अधीक्षक शर्मिष्ठा चक्रवर्ती ने बताया, 'अगस्त में एटीएम क्लोनिंग के जरिए गुवाहाटी में तुर्की के हैकर्स ने ऐसे ही वारदात को अंजाम दिया था। तो यही वजह है कि हमारा शक उन्हीं पर है, अब इस बारे में हमारी जांच जारी है।
अब इस बारे में जरूरत पड़ने पर हम उन सभी राज्यों की मदद लेंगे, जहां इस तरह से धोखाधड़ी की घटना हुई है। आपको बतादें की उधर, मामले को गंभीरता से लेते हुए एसबीआई ने भी अपने तीन स्थानीय एटीएम और त्रिपुरा स्टेट कोऑपरेटिव बैंक के एक एटीएम के संचालन को निलंबित कर दिया।
आपको बतादें की इस बारे में एसबीआई के स्थानीय मैनेजर दिब्येंदु चौधरी ने भी इस बात की पुष्टि की कि उन्हें भी 45 कस्टमर्स से इस बारे में शिकायत मिली है। उन्होंने कहा कि इसके तुरंत बाद हमने एहतियात के तौर पर एटीएम कार्ड को ब्लॉक कर दिया।
अब ऐसे में जैसे ही कस्टमर के जरिए एटीएम कार्ड का उपयोग किया जाता, वह क्लोन हो जाता है और कीपैड डिवाइस ग्राहक के पिन को हैकर्स तक पहुंचा देता। लेकिन फिलहाल पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है। दो संदिग्धों की तस्वीर भी जारी की गई है। पुलिस ने दावा किया है कि एटीएम में डिवाइस लगाने वाले आरोपी ही जल्द ही गिरफ्त में होंगे।
रोजाना ऐसी ही जानकारी के लिए हमे फ़ॉलो जरुर करें।

0/Comments = 0 / Comments not= 0

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी

Previous Post Next Post
loading...
loading...
loading...
loading...