यह ख़तरनाक एप कर लेता है नेटवर्क पर कब्ज़ा, जाने चौकदेने वाला ख़ुलासा - SupportMeYaar.com

Trending Now

Post Top Ad

Saturday, 9 November 2019

यह ख़तरनाक एप कर लेता है नेटवर्क पर कब्ज़ा, जाने चौकदेने वाला ख़ुलासा

आपको बतादें की सोशल मीडिया यूजर्स के लिए बड़ी चौकाने वाली खबर आ रही है। इस ख़बर को जानकर आप हैरान हो जायेंगे। आपको बतादें की ऐसा बताया जा रहा है कि भारतीय इंटरनेट यूजरों ने गूगल प्ले स्टोर पर कथित 'खालिस्तान' के लिए भारत विरोधी दुष्प्रचार और उग्रवाद को बढ़ावा देने पर गूगल की कड़ी आलोचना की है।

Third party image reference
बतादें की साथ ही कट्टरपंथ और भारत विरोधी गतिविधियों को बढ़ावा देने वाले '2020 सिख रेफरेंडम एप' को गूगल से हटाने की मांग की गई है।
बतादें की अमेरिका में सिखों के पाकिस्तान समर्थित अलगाववादी संगठन सिख फॉर जस्टिस (एसएफजे) गूगल के प्ले स्टोर को अपना नया मंच बना लिया है। ताकि वह पंजाब को खालिस्तान नाम का अलग देश बनाने का अपना एजेंडा चला सके।

Third party image reference
वैसे '2020 सिख रेफरेंडम' नाम का यह मोबाइल एप 7।54 एमबी का है। इसे रोमानिया की आइसीईटेक वेब डिजाइनिंग कंपनी ने बनाया है। बतादें की यह एप खालिस्तान के लिए पंजाब के लोगों को अपना वोट देने के लिए उकसाता है। गूगल प्ले स्टोर पर यह एप 1000 बार डाउनलोड हो चुका है।
नेटवर्क पर कर लेता है कब्जा

Third party image reference
आपको बतादें की यह एप इतना ज्यादा ख़तरनाक है की यह एप डाउनलोड करने के दौरान 3।001 वर्जन का एप कैमरा, लोकेशन, सीडी कार्ड के स्टोरेज और उसमें चेंज और उसे डिलीट करने की मंजूरी मांगता है।
बतादें की इसके साथ ही यह एप पूरे नेटवर्क पर कब्जा कर लेता है और वाइफाइ कनेक्शन पर भी असर करतें है। इससे भारत या विदेश में रहे रहे यूजर की सभी जानकारियों की सुरक्षा खतरे में पड़ जाती है।
इस एप को डाउनलोड करने के बाद फोन में कई अतिरिक्त क्षमताएं आ जाती हैं। यह एप इसी साल 14 फरवरी को लांच किया गया था। इसकी रेटिंग गूगल प्ले स्टोर पर 1।0 दिखाई गई है।
वैसे आपको क्या लगता है इस बारें में, हमें कमेंट करके जरुर बताये.
रोजाना ऐसी ही ख़बरों के लिए हमें फ़ॉलो जरुर करे

No comments:

Post a Comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी
• गलत शब्दों का प्रयोग न करे वरना आपका कमेंट पब्लिश नहीं किया जायेगा