महिलाओं को मासिक धर्म के समय क्यों समझा जाता है अपवित्र और अछूत, जानिए सही कारण

वैसे अक्सर मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को अपवित्र और अछूत माना जाता है। लेकिन क्या आप जानते है कि कई जगह तो इस समय महिलाओं को घर से बाहर भी रखा जाता है।
आपको बतादें की मानव जीवन में तन से ज्यादा पवित्रता मन की होती है। वैसे तो धर्म ये नहीं कहता की पीरियड्स के दौरान महिला अपवित्र हो जाती है। लेकिन महिलाओं को इस समय में दूरी बनाने की धारणा समाज द्वारा ही बनाई गई है।
महिलाएं होती है धार्मिक कार्यों से दूर:

Third party image reference
आपको बतादें की दुरी बनाने का मुख्य कारण यह था की उस आये समय में उन्हें शारीरिक कष्टों से जूझना पड़ता है। अब ऐसे में उस दौर पर उन्हें बेहद रूप से आराम की आवश्यकता होती है। जो उन्हें अपने गृहस्थ के काम काज न करने से मिल सकती है।
वैसे बतादें की काम काज से दूर रखते हुए आज उन्हें धर्म -कर्म से दूर की भी धारणा को अपना लिया गया। अब यह धारण अपनाने वाला उसी महिला समाज का ही निर्णय है।
ऐसे में महिलाओं द्वारा ही सांसारिक आडम्बरों को अपनाकर टोटके और नुक्से निकालना, कोई भी नियम का रूप ले लेता है।
वैसे तो यह जरूरी नहीं की तन पवित्र हो इंसान का मन पवित्र होना चाहिए। तभी मन पवित्र हो कई बार हम अपने तन को बड़ी ही साफ सफाई के साथ सजाते सवारते है और भक्ति के मार्ग में निकलते है।
वैसे आपका क्या ख्याल है इस बारे में, हमे कमेंट करके जरूर बताएं।
रोजाना ऐसी ही चटपटी खबरों के लिए हमे फ़ॉलो जरूर करें।

Previous article
Next article

Leave Comments

Post a comment

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी

loading...
loading...
loading...