FmD4FRX3FmXvDZXvGZT3FRFgNBP1w326w3z1NBMhNV5=
items

क्यों होता है मानसून सिस्टाइटिस का खतरा, अभी जान ले

आपको बतादें की जब मूत्राशय में संक्रमण हो जाता है, तब वह सिस्‍टाइटिस कहलाता है। ऐसे में सामान्यत: मानसून में प्यास भी कम लगती है क्योंकि शरीर से कम पानी अवशोषित होता है। इसके परिणामस्वरूप इस मौसम में पुरुषों व स्त्रियों को यूरीनरी ब्लैडर में सिस्टाइटिस का संक्रमण हो जाता है।

बतादें की मानसून में लोग अक्सर कम पानी पीते हैं, जिसके कारण सिस्टाइटिस होने का खतरा रहता है। पुरुषों की अपेक्षा स्त्रियों में सिस्टाइटिस का खतरा आठ गुना अधिक होता है। सिस्टाइटिस शरीर में तरलता की कमी से होती है।

सिस्टाइटिस के लक्षण :

1. मूत्र त्याग के समय दर्द व जलन।

2. बार-बार एवं अचानक मूत्र त्याग की आवश्यकता अनुभव होना परन्तु मूत्र की मात्रा कम निकलना अथवा न निकलना।

3. पेट का निचला भाग नाजुक लगना एवं कमर में दर्द।

4. तेज बुखार

उम्मीद है जानकारी आपको पसंद आई होगी।

इमेज सोर्स : गूगल

  1. क्या आपके चेहरे पर भी पिंपल्स होते है, जाने पिंपल्स होने का मुख्य कारण
  2. दिल के मरीजों के लिए चने का सेवन है रामबाण उपाय, साथ में है वीर्यवर्धक और शक्तिवर्धक - New!
  3. धूम्रपान से मधुमेह का खतरा बढ़ सकता है
  4. नींद की पूर्ति ना होने से खराब हो सकती है किडनी

0/Post a Comment/Comments

73745675015091643

Top News

[getBlock results="10" label="Top News" type="block1"]

Health Tips

[getBlock results="5" label="Health Tips" type="block1"]

Recipe

[getBlock results="5" label="Recipe" type="block1"]

Relationship

[getBlock results="5" label="Relationship" type="block1"]

Sports

[getBlock results="5" label="Sports" type="block1"]

Tech News

[getBlock results="5" label="Tech 360" type="block1"]