अभी से ही अप्रैल से जून के बीच धमाकेदार कमाई का मौका! 15 IPO में निवेश से मिल सकता है मोटा मुनाफा - SupportMeYaar.Com

Popular Posts

अभी से ही अप्रैल से जून के बीच धमाकेदार कमाई का मौका! 15 IPO में निवेश से मिल सकता है मोटा मुनाफा

Share it:
पिछले वित्त वर्ष में 30 से ज्यादा IPO के जरिए कंपनियों ने निवेशकों से कुल 39,900 करोड़ रुपये जुटाए हैं. अब वित्त वर्ष 2021-22 भी IPO को लेकर बेहद व्यस्त रहने वाला है. इस वित्त वर्ष में कई कंपनियां प्राइमारी मार्केट से पूंजी जुटाने का ऐलान कर चुकी हैं. इस साल की पहली तिमाही यानी अप्रैल से जून के बीच 10 से 15 IPO ऑफर्स आने वाले हैं. इसमें से भी 5 या 6 IPO तो अप्रैल महीने में ही पेश किए जाएंगे.



रियल एस्टेट सेक्टर कंपनी मैक्रोटेक डेवलपर्स 2,500 करोड़ रुपये का IPO लेकर आने वाली है. पहले लोढ़ा डेवलपर्स के नाम से पहचानी जाने वाली इस कपंनी के IPO 7 अप्रैल से खुल जाएंगे. निवेशकों के पास 9 अप्रैल तक इस IPO पर दांव खेलने का मौका होगा.

अप्रैल में इन IPO में पैसा लगाकर कर सकते हैं कमाई
इसके अलावा हैदराबाद की डोडला डेयरी, कॉरपोरेट हेल्थेकयर ग्रुप कृष्णा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (KIMS) हॉस्पिटल्स, इंडिया पेस्टीसाइड्स, ऑटो एंसिलरी कंपनी सोना बीएलडब्ल्यू प्रीसिज़न फॉर्जिंग्स और अफोर्डेबल हाउसिंग फाइनेंस फर्म आधार हाउसिंग फाइनेंस के भी IPO आने वाले हैं.

अगर इन कंपनियों की लिस्टिंग पूरी हो जाती है तो अप्रैल महीने में ही इनके IPO का कुल साइज करीब 18,000 करोड़ रुपये हो जाएगा. पिछले साल की पहली तिमाही में कंपनियों ने IPO के जरिए 18,800 करोड़ रुपये जुटाए थे.

जून तिमाही में इन IPO की होगी बारी
जून 2021 में खत्म होने वाली तिमाही में रोलेक्स रिंग्स, पारस डिफेंस एंड स्पेस टेक्नोलॉजीज, उत्कर्ष स्मॉल फाइनेंस बैंक, सीबॉर्न लॉजिस्टिक्स, एरोहन फाइनेंशियल सर्विसेज, मॉन्टे कार्लो, सेवेन आइलैंड्स शिपिंग, एक्जेरो टाइल्स और गोएयर के भी IPO आने वाले हैं. इन IPO के जरिए कुल 26,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है.

इसी साल आएगा LIC का IPO
LIC के IPO के लिहाज से यह साल और भी खास रहने वाला है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है वित्त वर्ष 2022 में LIC का IPO लॉन्च किया जाएगा. LIC का यह IPO करीब 70,000 से 80,000 करोड़ रुपये का होगा. सरकार ने यह भी कहा कि LIC पॉलिसीहोल्डर्स को कुल IPO का 10 फीसदी दिया जाएगा.

वित्त वर्ष 2022 के लिए केंद्र सरकार ने विनिवेश का लक्ष्य 1.75 लाख करोड़ रुपये रखा है. पिछले वित्त वर्ष के लिए यह 2.1 लाख करोड़ रुपये था. इस बार सरकार ने दो पब्लिक सेक्टर बैंकों और एक जनरल इंश्योरेंस कंपनी के निजीकरण का भी ऐलान किया है.

क्यों IPO के जरिए इतनी बड़ी पूंजी जुटा रहीं कंपनियां
दरअसल, सेंकडरी मार्केट के अच्छे प्रदर्शन को देखते हुए कंपनियों वित्त वर्ष 2022 में IPO के जरिए इतनी बड़ी रकम जुटा रही हैं. इसमें मिडकैप और स्मॉलकैप की कंपनियां हें. जानकारों का मानना है कि इस साल इन्हीं कंपनियों में सबसे ज्यादा एक्शन देखने को मिलेगा.

कैसा रहेगा IPO का यह सीज़न?
जानकारों का कहना है कि इस साल लॉन्च होने वाले IPO निवेशकों के लिए उत्साह भरा रहने वाला है. अभी तक हुई लिस्टिंग्स को देखा जाए तो छोटी अवधि में निवेशकों ने इनमें खूब पैसा लगाया है. लेकिन, उन्होंने यह भी कहा कि अब जबरदस्त बिज़नेस मॉडल्स वाले IPO ही ज्यादा सफल हो पाएंगे.

 Follow Us : - Google News | Dailyhunt News | Facebook | Instagram | Twitter | Pinterest

Share it:

Hatke Khabar

Top News

Trending

Post A Comment:

0 comments:

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी