पीएम आवास योजना का करोड़ो लोगों को मिला है लाभ, इस कारण से कई का नाम हुआ लिस्ट से बाहर, जाने - SupportMeYaar.Com

Popular Posts

पीएम आवास योजना का करोड़ो लोगों को मिला है लाभ, इस कारण से कई का नाम हुआ लिस्ट से बाहर, जाने

Share it:
नई दिल्ली. ग्रामीण विकास मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण (Pradhan Mantri Awas Yojana-G) के तहत अब तक 2.14 करोड़ लाभार्थी पात्र पाए गए हैं तथा आगे यह संख्या कम होने की संभावना है. हालांकि, इस सूची में शुरू में 2.95 करोड़ परिवार शामिल थे, मंजूरी के समय कई स्तरों पर किए गए सत्यापन के माध्यम से, बहुत सारे घरों को पात्र नहीं पाया गया. मंत्रालय ने कहा कि इसलिए इस लिस्ट को 2.14 करोड़ तक सीमित कर दिया गया है. आगे यह संख्या और कम होने की संभावना है.




अब तक पात्र लाभार्थियों की संख्या 2.95 करोड़ से घटकर 2.14 करोड़ होने के कारण, उन सभी परिवारों की पहचान के लिए फील्ड अधिकारियों की मदद से सभी राज्यों, केंद्रशासित क्षेत्रों द्वारा ‘आवास प्लस’ नाम का एक सर्वेक्षण किया गया था जिन्हें पात्र होने के बावजूद योजना की स्थायी प्रतीक्षा सूची में शामिल नहीं किया गया है.

2.95 करोड़ घरों की सीमा को घटाया 
बयान में कहा गया कि वित्त मंत्रालय ने जुलाई, 2020 में ग्रामीण विकास मंत्रालय को प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत 2.95 करोड़ घरों की सीमा के साथ अंतिम ‘आवास प्लस’ सूची के अतिरिक्त पात्र परिवारों को योजना की स्थायी प्रतीक्षा सूची में शामिल करने के प्रस्ताव के लिए सहमति दी थी. पात्रता के लिए सर्वेक्षण के नतीजे की समीक्षा की जा रही है और इसके बाद इनका क्रियान्वयन किया जाएगा.


किन लोगों को होता है प्रधानमंत्री आवास योजना का फायदा
प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) का लाभ पहले सिर्फ गरीब वर्ग के लिए था. लेकिन, अब होम लोन की रकम बढ़ाकर शहरी इलाकों के गरीब और मध्यम वर्ग को भी इसके दायरे में लाया गया है. शुरुआत में पीएमएवाई में होम लोन की रकम 3 से 6 लाख रुपए तक थी, जिस पर ब्याज पर सब्सिडी दी जाती थी, अब इसे 18 लाख रुपए तक कर दिया गया है.

जानिए क्या हैं नियम व शर्तें
योजना का फायदा लेने के लिए आवेदक की उम्र 21 से 55 साल होनी चाहिए. अगर परिवार के मुखिया या आवेदक की उम्र 50 साल से अधिक है, तो उसके प्रमुख कानूनी वारिस को होम लोन में शामिल किया जाएगा. ईडब्ल्यूएस (निम्न आर्थिक वर्ग) के लिए सालाना घरेलू आमदनी 3 लाख रुपए तय है. एलआईजी (कम आय वर्ग) के लिए सालाना आमदनी 3 लाख से 6 लाख के बीच होनी चाहिए. अब 12 और 18 लाख रुपए तक की सालाना आमदनी वाले लोग भी इसका लाभ उठा सकते हैं.

कितनी आमदनी वालों को कितना होगा फायदा
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 6.5 फीसदी की क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी सिर्फ छह लाख रुपए तक के लोन पर उपलब्ध है. 12 लाख रुपए तक की सालाना कमाई वाले लोग 9 लाख रुपए तक के लोन पर चार फीसदी ब्याज सब्सिडी का लाभ उठा सकते हैं. वहीं, 18 लाख रुपए तक की सालाना आमदानी वाले लोग 12 लाख रुपए तक के लोन पर तीन फीसदी ब्याज सब्सिडी का लाभ उठा सकते हैं.

 Follow Us : - Google News | Dailyhunt News | Facebook | Instagram | Twitter | Pinterest

Share it:

Hatke Khabar

Top News

Trending

Post A Comment:

0 comments:

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी