इस पौराणिक काल मे समुंदर मंथन के दौरान उयोग में लाये गए पर्वत और शेषनाग का रहस्य - SupportMeYaar.Com

Popular Posts

इस पौराणिक काल मे समुंदर मंथन के दौरान उयोग में लाये गए पर्वत और शेषनाग का रहस्य

Share it:

समुद्र मंथन हमारी पौराणिक कथाओं का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा है, समुद्र मंथन देवताओं और असुरों ने मिलकर किया था, जिसमे अमृत और विष जैसी चीजों के साथ कई रत्न और माता लक्ष्मी का प्रादुर्भाव हुआ था, लेकिन क्या अप जानते हैं कि समुद्र मंथन कहां पर किया गया था, अगर नही जानते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें, आज हम आपको इसी के बारे में बताने वाले हैं।



पौराणिक कथाओं के अनुसार देवताओं और असुरों ने मिलकर मंदराचल पर्वत को मथानी की तरह और वासुकी नाग को रस्सी की तरह उपयोग करते हुए समुद्र मंथन किया था, यह पर्वत गुजरात के दक्षिणी समुद्र में मिला है, एक वैज्ञानिक परीक्षण के अनुसार इसकी पुष्टि की गयी है, गुजरात के दक्षिणी हिस्से में पिंजरत नामक गांव है, वहीँ समुद्रतल में इसके होने की पुष्टि वैज्ञानिकों ने की है।

रिसर्च के अनुसार इस पर्वत पर घिसाव के निशान साफतौर पर देखे जा सकते हैं, हालाँकि यह निशान जल तरंगों के कारण भी हो सकते थे, लेकिन कार्बन टेस्ट के बाद इसे मंदराचल पर्वत होने की पुष्टि की गयी, आमतौर पर समुद्रतल में पाए जाने वाले पर्वतों की तुलना में इस पर्वत की बनावट अलग थी, इसके साथ ही इसमें ग्रेनाईट की मात्रा भी काफी ज्यादा थी।

 Follow Us : - Google News | Dailyhunt News | Facebook | Instagram | Twitter | Pinterest

Share it:

Ajab Gajab

Religion

Post A Comment:

0 comments:

• अगर आप इस आर्टिकल के बारे में कुछ कहेंगे या कोई सवाल कमेंट में करेंगे तो हमें बहुत ख़ुशी होगी